Custom Heading

श्रीराम जन्मभूमि के आस-पास प्रस्तावित और निर्माणाधीन विकास कार्यो की हुई समीक्षा
अयोध्या, 27 सितम्बर (हि. स.)। आयुक्त कक्ष में मण्डलायुक्त एम0पी0 अग्रवाल ने श्रीराम जन्मभूमि के आस
श्रीराम जन्मभूमि के आस-पास प्रस्तावित और निर्माणाधीन विकास कार्यो के की हुई समीक्षा 


अयोध्या, 27 सितम्बर (हि. स.)। आयुक्त कक्ष में मण्डलायुक्त एम0पी0 अग्रवाल ने श्रीराम जन्मभूमि के आस-पास प्रस्तावित और निर्माणाधीन विकास कार्यो के साथ अन्य निर्माण कार्यो की सोमवार को समीक्षा की।

मण्डलायुक्त ने बताया कि विगत दिवस मुख्य सचिव द्वारा श्रीराम जन्मभूमि के साथ-साथ आस-पास के कार्यो की समीक्षा की गई, जिसमें उनके द्वारा निर्देशित किया गया कि निर्माण कार्यो को गुणवत्ता के साथ पूर्ण किया जाये तथा जो निर्माण कार्य पूर्ण होने की स्थिति में है। उनके लोकापर्ण के लिए रिर्पोट प्राप्त कर आवश्यक कार्यवाही की जाये।

अयोध्या के श्रीराम जन्मभूमि के आसपास के सड़क निर्माण व मरम्मत, पेयजल व सीवरेज संबंधी कार्य, मार्गो का सौन्दर्यीकरण, घाटों की मरम्मत आदि अनेक कार्य चलाये जा रहे हैं। जिसमें मुख्य रूप से नगर निगम, जल निगम, सिचाई विभाग, पर्यटन, लोक निर्माण, संस्कृति विभाग, पुलिस विभाग आदि के महत्वपूर्ण कार्य है। इन कार्यो को गुणवत्ता के साथ पूर्ण करने के साथ ही अन्य जो अयोध्या जनपद के कार्य है उस पर भी प्राथमिकता से कार्य किया जाये।

मण्डलायुक्त ने कहा कि अयोध्या के विकास कार्यो की दो रिपोर्ट तैयार की जाय पहली जनपद अयोध्या की जिसमें लगभग 150 छोटी बड़ी परियोजनाएं शमिल है तथा दूसरी श्रीराम जन्मभूमि के आसपास जिसमें लगभग 75 परियोजनाएं सम्मिलित है ताकि उनकी अलग-अलग समीक्षा की जा सकें। जिसमें अयोध्या के विकास तथा पंचकोसी मार्ग, चौदह कोसी मार्ग एवं चौरासी कोसी मार्ग प्रमुख है। जिसमें केन्द्र के स्वदेश दर्शन योजना, पर्यटन विभाग, संस्कृति विभाग, नगर निगम, जल निगम, विद्युत निगम, लोक निर्माण, राष्ट्रीय राजमार्ग आदि की परियोजनाएं है। उसकी अलग से समीक्षा की जाय। इसका मुख्य उद्देश्य अयोध्या के सर्वांगीण विकास को प्राथमिकता देना है। यह परियोजना मुख्यमंत्री के प्राथमिकता के कार्यो में प्रमुख है तथा उनके द्वारा इसकी नियमित समीक्षा की जाती है।

उन्होंने कहा कि इसकी रिपोर्ट सम्बंधित कार्यदायी संस्था व नामित संस्था से तैयार कराते हुये जिलाधिकारी अयोध्या के स्तर से परार्मश कराते हुये कल तक प्रस्तुत करने को कहा। इसकी समीक्षा मुख्य सचिव द्वारा की जानी है। बैठक में संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ-साथ कार्यदायी संस्थाओं के प्रतिनिधि एवं मुख्य विकास अधिकारी मुख्य विकास अधिकारी श्रीमती अनिता यादव सहित कार्यदायी संस्था के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

हिन्दुस्थान समाचार/पवन


 rajesh pande