Custom Heading

उज्जैन: चर्चित महिला को किया गिरफ्तार लाखों रुपए की ठगी का आरोप
उज्जैन, 11 सितंबर (हि.स.)।उज्जैन जिले की एक चर्चित महिला को नागझिरी पुलिस ने शनिवार सुबह गिरफ्तार क

उज्जैन, 11 सितंबर (हि.स.)।उज्जैन जिले की एक चर्चित महिला को नागझिरी पुलिस ने शनिवार सुबह गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार महिला शिरीन हुसैन उर्फ शबाना पति शेख अनम निवासी आदर्श नगर है। उसके खिलाफ लखनऊ निवासी यूनाइटेड इंटरनेशनल ह्यूमन राइट्स ट्रस्ट (मानव अधिकार संस्थान) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मधु यादव ने एसपी सत्येंद्रकुमार शुक्ल से लिखित शिकायत की थी।

शिकायत के आधार पर की गई जांच में आरोप सही पाए जाने पर 8 सितंबर को नागझिरी पुलिस ने आरोपी शिरीन हुसैन के खिलाफ धारा 420, 468, 471 व 506 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज किया। फिलहाल इसी आरोप में नागझिरी पुलिस शनिवार सुबह आरोपी शिरीन हुसैन को उनके निवास से गिरफ्तार कर थाने ले आई। गौरतलब है कि आरोपी शिरीन हुसैन उज्जैन जिले की चर्चित महिला हैं। वे फेसबुक व वाट्सएप पर भी काफी सक्रिय रहती हैं। इसके पहले वे इसी मानव अधिकार संस्थान में राष्ट्रीय महासचिव के पद पर थीं। जिस पर सामाजिक गतिविधियों के दृष्टिगत समय-समय पर उनके कार्य के समाचार भी प्रमुख अखबारों में प्रकाशित होते रहते थे।

ये है एफआईआर में दर्ज शिकायत, लोगों से लाखों रुपए ठगी के हैं आरोप

फरियादी मधु पति रविंद्रसिंह यादव ने नागझिरी थाने में एफआईआर दर्ज करवाई है कि वे बी-1/डी-1 एलडीए कॉलोनी, कृष्णानगर कानपुर रोड लखनऊ उत्तरप्रदेश निवासी हैं और यूनाइटेड इंटरनेश्नल ह्यूमन राइट्स ट्रस्ट (मानव अधिकार संस्थान) की राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। देवास रोड स्थित आदर्श नगर निवासी शिरीन हुसैन उर्फ शबाना से उनकी मुलाकात पिंकी यादव के माध्यम से हुई थी। जिस पर शिरीन हुसैन उनकी संस्था से 2019 में जुड़ी थी। तब शिरीन हुसैन को मध्यप्रदेश प्रदेश सचिव नियुक्त किया गया था। लेकिन शिरीन हुसैन द्वारा संस्था की अन्य महिला सदस्यों से विवाद के बाद उन्हें हटा दिया गया था। दिसंबर 2020 में उनका मप्र का दौरा हुआ, तब शिरीन हुसैन ने अपने व्यवहार के प्रति खेद जताया और माफी मांगी। जिस पर उन्हें पुन: संगठन में लेकर जनवरी 2021 में राष्ट्रीय महासचिव के पद पर नियुक्त किया गया। जब मुझे जानकारी मिली कि शिरीन हुसैन द्वारा लोगों से नियुक्ति करने के नाम पर 11-11 हजार रुपए लिए जा रहे हैं और मेरे जाली हस्ताक्षर कर नियुक्ति पत्र व आई कार्ड दिए जा रहे हैं। इस पर मैंने 1 अगस्त 2021 को फिर से शिरीन हुसैन को संस्था से हटा दिया। इसके बाद फिर जानकारी मिली कि जिन लोगों को मैंने संस्था से गड़बड़ी करने के मामले में हटाया था, शिरीन हुसैन द्वारा उन लोगों को अपने साथ लेकर मेरे संगठन में नियुक्त महिला पदाधिकारियों को चरित्रहीन व बदनाम करने के लिए पेपर व यू-ट्यूब चैनल पर न्यूज चला रही है। इसके बाद बुरहानपुर निवासी शाहनाज अंसारी ने मुझे बताया कि शिरीन हुसैन ने उससे नियुक्ति के नाम पर 17 मई 2021 को ऑनलाइन बैंकिंग के जरिए 59 हजार 400 रुपए लिए थे। ऑनलाइन ट्रांसफर नहीं होने पर 10 हजार रुपए नकद उसके दामाद अली असगर को बुरहानपुर में दिए। 20 जून 2021 को 40 हजार रुपए नकद शिरीन हुसैन के घर पर दिए। जिसके बदले मेरे जाली हस्ताक्षर के साथ 11 प्रमाण पत्र व एक आई कार्ड दिए गए। फरियादी मधु यादव ने अपनी एफआईआर में ये भी जिक्र किया है कि 10 अगस्त 2021 को भी उन्होंने शिरीन हुसैन की शिकायत उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह व उज्जैन एसपी सत्येंद्रकुमार शुक्ल को की थी। एफआईआर में मधु यादव ने बताया है कि शिरीन हुसैन ने उनके संस्थान के नाम पर करीब 30 लोगों के साथ धोखाधड़ी की है व जाली हस्ताक्षर के जरिए उन्हें फर्जी नियुक्ति व आई कार्ड जारी किए हैं।

उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव से भी की थी शिकायत

यूनाइटेड इंटरनेश्नल ह्यूमन राइट्स ट्रस्ट (मानव अधिकार संस्थान) की राष्ट्रीय अध्यक्ष मधु यादव ने करीब तीन-चार दिन पहले अपने संस्थान की पदाधिकारियों को साथ लेकर उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव से भी मुलाकात की थी। यहां सभी पदाधिकारियों ने मिलकर शिरीन हुसैन के खिलाफ ज्ञापन भी सौंपा था। साथ ही उच्च शिक्षा मंत्री यादव से शिरीन हुसैन के खिलाफ थाने में एफआईआर दर्ज करवाए जाने की मांग भी की थी। इस शिकायत के तीन-चार दिन बाद ही नागझिरी पुलिस ने आरोपी शिरीन हुसैन के खिलाफ धोखाधड़ी, कूट रचित दस्तावेज तैयार करने व जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज किया और शनिवार सुबह गिरफ्तार कर लिया।

सुनो गौर से दुनिया वालों, बुरी नजर न हम पर डालो, मोबाइल पर बजती रही धुन

पूरे मामले में शिरीन हुसैन का पक्ष जानने के लिए हिन्दुस्थान समाचार ने मोबाइल के जरिए शिरीन हुसैन से संपर्क करना चाहा लेकिन उनके मोबाइल में धुन बजती रही कि सुनो गौर से दुनिया वालों, बुरी नजर न हम पर डालो। संभवत: उनकी गिरफ्तारी के साथ पुलिस ने उनका मोबाइल भी जब्ती में ले लिया होगा। जिसके कारण किसी ने उनका मोबाइल रिसीव नहीं किया।

इनका कहना है

शिरीन हुसैन ने हमारे मानव अधिकार संस्थान के नाम पर लाखों रुपए की ठगी की है। 11-11 हजार रुपए लेकर व मेरे जाली हस्ताक्षर कर उन्होंने 30 से अधिक लोगों को फर्जी नियुक्ति पत्र व आई कार्ड जारी किए हैं। आरोपी शिरीन हुसैन के खिलाफ नागझिरी थाने में धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज करवाया गया है। फिलहाल पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया है।

मधु यादव, राष्ट्रीय अध्यक्ष यूनाइटेड इंटरनेश्नल ह्यूमन राइट्स ट्रस्ट

मानव अधिकार संस्थान के नाम पर लोगों से धोखाधड़ी करने के मामले में आरोपी शिरीन हुसैन के खिलाफ धारा 420, 468, 471 व 506 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। फिलहाल उन्हें पुलिस अभिरक्षा में लेकर पूछताछ की जा रही है।

दिनेश पटेल, प्रभारी टीआई नागझिरी

हिन्दुस्थान समाचार/गजेंद्र सिंह तोमर


 rajesh pande