परिवार से मिलती है ताकत, पोतियां हैं सबसे बड़ी दौलत : गौतम अडानी
अहमदाबाद, 02 अप्रैल (हि.स.)। अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने अपनी पोती के बारे में कहा है कि को
अदाणी


अहमदाबाद, 02 अप्रैल (हि.स.)। अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने अपनी पोती के बारे में कहा है कि कोई भी दौलत इनकी आंखों की चमक की बराबरी नहीं कर सकती। कावेरी, उनकी सबसे छोटी पोती और परिधि और करण अडानी की तीसरी बेटी हैं। अडानी ग्रुप के चेयरमैन ने कहा, इन आंखों की चमक की तुलना में दुनिया की सारी दौलत फीकी है। ये तस्वीर नई अदाणी ग्रीन गैलरी के दौरे पर लंदन साइंस म्यूजियम में ली गई है।

हाल ही में, एक कार्यक्रम में गौतम अडानी ने कहा था कि अपनी पोतियों के साथ समय बिताना उन्हें सबसे ज्यादा खुशी देता है। गौतम अडानी कहते हैं, “मुझे अपनी पोतियों के साथ समय बिताना अच्छा लगता है। इससे सारा तनाव दूर हो जाता है। मेरी सिर्फ दो दुनिया है, काम और परिवार। मेरा परिवार ही मेरी ताकत है।”

माता-पिता से मिली प्रेरणा

शुरुआती सालों में गौतम अडानी अपने माता-पिता से प्रभावित और प्रेरित थे। उन्होंने कहा, मेरी मां हमारे घर का पिलर थीं। उन्होंने हमारी ज्वॉइंट फैमिली को मजबूती से जोड़े रखा। हमारे बड़े परिवार को एक साथ रखने की उनकी प्रतिबद्धता ने मेरे अंदर पारिवारिक मूल्यों और विश्वासों की नींव रखी। मेरे पिता बिजनेसमैन थे, उन दिनों लेन-देन मौखिक रूप से होता था या फिर ज्यादातर टेलीफोन पर ही होता था। पहले लिखित दस्तावेज़ या कॉन्ट्रैक्ट नहीं होते थे। बहुत कम उम्र में मैंने देखा कि मौखिक प्रतिबद्धताएं कभी फेल नहीं होती। गौतम अडानी कहते हैं, मेरे बचपन के इन अनुभवों ने मेरे विश्वासों को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इसी का परिणाम है आज अडानी ग्रुप की कोर वैल्यू में लोगों में विश्वास बढ़ा है

अडानी समूह किसी एक व्यक्ति से कहीं ज्यादा बड़ा है

गौतम अडानी भले ही अडानी समूह के फाउंडर हैं, लेकिन आज ये समूह किसी एक व्यक्ति से कहीं ज्यादा बड़ा है। अडानी सिर्फ एक नाम या ब्रांड से कहीं अधिक है। अडानी एक कल्चर है। यह एक विचारधारा है। यह सोचने का एक तरीका है। समूह के बारे में गौतम अडानी बताते हैं कि मुझे और आने वाली पीढ़ी को इसपर गर्व तो होता ही है साथ ही इससे एक बड़ी जिम्मेदारी भी आती है। इससे कर्मचारियों और प्रमोटर्स के बीच एक मजबूत रिश्ता बनता है। यह एकजुटता की ताकत है जो अडानी समूह को एक मजबूत अडानी परिवार बनाती है। यह हमारे कैन-डू-ऐटिट्यूड का हिस्सा है। हम सादगी में भरोसा रखते हैं, और जहां एक तरफ हमें अपने काम पर गर्व है, वहीं हम अपनी उपलब्धियों के बारे में विनम्र रहने में भी विश्वास रखते हैं।

मुंबई में अडानी बदलेंगे धारावी की तस्वीर

अडानी समूह के चेयरमैन गौतम अडानी के हाथों में मुंबई की सूरत बदलने की जिम्मेदारी है। अडानी वो कर सकते हैं, जो अब तक कोई नहीं कर पाया है। धारावी के रीडेवलमेंट के लिए अडानी समूह ने ग्लोबल टीम तैयार की है। अडानी ने विदेशी कंपनियों के साथ साझेदारी की है। समूह की कंपनी धारावी रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट प्राइवेट लिमिटेड ने देश के सबसे बड़े स्लम धारावी की सूरत बदलने के लिए अमेरिका की डिजाइनिंग टीम हायर की। इसके अलावा ब्रिटेन की कंसल्टेंसी फर्म और आर्किटेक्ट हफीज कॉन्ट्रैक्टर के साथ हाथ मिलाया है। साथ ही उन्होंने सिंगापुर के एक्सपर्ट को इस प्रोजेक्ट के लिए अपने साथ जोड़ा है। दुनिया की टॉप ग्लोबल टीमों को अपने साथ जोड़कर अडानी धारावी की सूरत बदल देंगे।

हिन्दुस्थान समाचार/बिनोद/आकाश