साल की पहली राष्ट्रीय लोक अदालत 9 को, 25000 से अधिक मामलों का होगा निस्तारण
पलामू, 4 मार्च (हि.स.)। व्यवहार न्यायालय में इस साल की पहली राष्ट्रीय लोक अदालत नौ मार्च को लगेगी। प
जानकारी देते पीडीजे नीरज श्रीवास्तव


पलामू, 4 मार्च (हि.स.)। व्यवहार न्यायालय में इस साल की पहली राष्ट्रीय लोक अदालत नौ मार्च को लगेगी। पलामू के प्रधान जिला व सत्र न्यायाधीश नीरज कुमार श्रीवास्तव ने सोमवार को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि 25 हजार से अधिक मामले निस्तारण का लक्ष्य रखा गया है। तैयारी शुरू कर दी गई है। बीते वर्ष राष्ट्रीय लोक अदालत में 23 हजार 500 मामले का निस्तारण किया गया था। इसके लिए विभिन्न विभागों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं।

उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन ब्यवहार न्यायालय परिसर में 10.30 बजे से किया जाएगा, जो कोर्ट कार्य अवधि तक चलेगा। लोक अदालत में मामले के निस्तारण को लेकर 14 पीठ बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि लोक अदालत में चेक बाउंस से संबंधित मामले, सुलहनीय बाद, सभी तरह के दीवानी मामले, विद्युत अधिनियम के बाद, विवाहोतर प्रताड़ना के वाद, राजस्व न्यायालय में लंबित मामले, अंतिम प्रपत्र से सम्बंधित वाद, श्रम वाद, रेलवे न्यायालय में लंबित मामले, छोटे आपराधिक वाद, बैंक ऋण, बीएसएनएल, विद्युत विभाग से सम्बंधित, भूमि अधिग्रहण के मामले, एम सर्विस से सम्बंधित, एमएसीटी ,पारिवारिक विवाद, उपभोक्ता फोरम आदि से जुड़े मामले का निस्तारण किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि 11 मार्च से फैमिली मैटर को लेकर स्पेशल ड्राइव चलाया जाएगा। इसलिए राष्ट्रीय लोक अदालत में फैमिली मैटर को लेकर विशेष फोकस रहेगा। साथ ही अधिक से अधिक लोग लोक अदालत में उपस्थित होकर इसका लाभ उठाए।

हिन्दुस्थान समाचार/दिलीप