देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनेगा उत्तराखंड, लाएंगे डिजिटल क्रांति : सुबोध उनियाल
देहरादून, 04 मार्च (हि.स.)। तकनीकी शिक्षा, वन, भाषा एवं निर्वाचन मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि उत्तर
देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनेगा उत्तराखंड, लाएंगे डिजिटल क्रांति : सुबोध उनियाल 


देहरादून, 04 मार्च (हि.स.)। तकनीकी शिक्षा, वन, भाषा एवं निर्वाचन मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि उत्तराखंड सरकार नई तकनीकों का प्रयोग कर प्रदेश में डिजिटल क्रांति लाने के लिए प्रतिबद्ध है। प्रदेश को हर क्षेत्र में विकसित करते हुए जनमानस की समस्याओं का पारदर्शितापूर्ण निराकरण कर गुड गवर्नेंस के साथ सरकार विकल्प रहित संकल्प पर उत्तराखंड को देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने के लिए प्रतिबद्ध है।

आईआरडीटी ऑडिटोरियम में चयनित कर्मशाला अनुदेशकों के नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम में तकनीकी शिक्षा मंत्री ने कहा कि तकनीकी शिक्षा ही एक ऐसा माध्यम है जिससे बेरोजगारी के समय में युवा अपने तकनीकी कौशल से नौकरियां अथवा स्व-रोजगार अपना सकते हैं। सरकार का लक्ष्य युवाओं को तकनीकी शिक्षा प्रदान कर रोजगार के अधिकाधिक अवसर उपलब्ध कराकर राष्ट्र एवं राज्य को उन्नत बनाना है।

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की ओर से तकनीकी शिक्षा विभाग अंतर्गत राजकीय पालीटेक्निक संस्थाओं में कर्मशाला अनुदेशक पद के लिए चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र वितरण किया। इसके उपरांत मंत्री ने कहा कि विश्व की तीसरी बड़ी अर्थव्यवस्था के साथ आत्मनिर्भर भारत बनाने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वप्न को साकार करने में देश के हर नागरिक एवं हर युवा की भूमिका होगी। सभी जीवन में नवपरिवर्तन अनुकूलन के सिद्धांत पर आगे बढ़ते हुए कार्य कुशलता से प्रदेश की उत्तरोत्तर प्रगति में सहायक सिद्ध होंगे।

तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित करेगी सरकार

तकनीकी शिक्षा विभाग का प्रमुख उद्देश्य युवाओं को विभिन्न उन्नत तकनीकी विधाओं में प्रशिक्षण प्रदान करना है। तकनीकी शिक्षा हमारी शिक्षा प्रणाली का एक प्रमुख हिस्सा है, जो देश-प्रदेश के समग्र विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। सरकार तकनीकी शिक्षा के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित करेगी।

बढ़ेगा रोजगार का ग्राफ, विकास की नई बयार

राजपुर रोड विधायक खजानदास ने कहा कि उत्तराखंड विकास के साथ नए आयाम स्थापित कर रहा है। वहीं तकनीकी शिक्षा विभाग की ओर से अनेक नए रोजगारपरक उन्नत पाठ्यक्रम प्रारंभ किए जा रहे हैं। नए उद्योग-सेवा आदि धरातल पर क्रियान्वयन होने से राज्य में रोजगार का ग्राफ नई ऊंचाई को प्राप्त होगा, जो राज्य में विकास की नई बयार लाएगा।

एक माह में ही 448 छात्र-छात्राओं को मिला रोजगार

प्राविधिक शिक्षा निदेशक आरपी गुप्ता ने बताया कि गत वर्षों में लगभग 5364 छात्र-छात्राओं को नौकरियों के अवसर प्रदान किए जा चुके हैं। एक फरवरी से एक मार्च 2024 के मध्य मात्र एक माह में ही 448 छात्र-छात्राओं को रोजगार दिलवाया जा चुका है। इन छात्राओं का सालाना पैकेज 2.50 लाख से आठ लाख का है। इस दौरान अपर सचिव तकनीकी शिक्षा स्वाति भदौरिया आदि थे।

हिन्दुस्थान समाचार / कमलेश्वर शरण/प्रभात