अयोध्या के विकास कार्यों की मुख्य सचिव ने की समीक्षा
अयोध्या, 03 मार्च (हि.स.)। अंतरराष्ट्रीय रामकथा संग्रहालय में अयोध्या के विकास कार्यों की रविवार को
अयोध्या के विकास कार्यो की मुख्य सचिव ने समीक्षा किया


अयोध्या के विकास कार्यो की मुख्य सचिव ने समीक्षा किया


अयोध्या के विकास कार्यो की मुख्य सचिव ने समीक्षा किया


अयोध्या, 03 मार्च (हि.स.)। अंतरराष्ट्रीय रामकथा संग्रहालय में अयोध्या के विकास कार्यों की रविवार को सभी विभागीय अधिकारियों के साथ मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ने समीक्षा की। हनुमानगढ़ी व श्रीराम लला मंदिर में दर्शन कर उन्होंने श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के महासचिव चम्पत राय, सदस्य डॉ अनिल मिश्र, गोपाल राव व प्रशासन के अधिकारियों के साथ श्रद्धालुओं के सुगम दर्शन हेतु की गई व्यवस्थाओं की समीक्षा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

विभागीय समीक्षा में उन्होंने कहा कि अयोध्या को क्लीन, ग्रीन, ब्यूटीफुल सिटी के रूप में स्थापित करने के लिए उद्यान विभाग को प्रशिक्षित किया जाएगा।

मुख्य सचिव ने कहा कि वर्तमान समय में देश के विभिन्न स्थलों सहित विदेशों से भी श्रद्धालु भगवान श्री राम लला के दर्शन हेतु आ रहे हैं। उनकी अयोध्या यात्रा के सुखद अनुभूति हेतु हरसंभव प्रयास किये जाय तथा अयोध्या में जो भी कार्य हो रहे है उनकी गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाये। सभी कार्य टिकाऊ व सभी कार्यों में वन टाइम मेन्टेनेंस का प्रावधान भी अवश्य रहे। इस दौरान अयोध्या के विभिन्न पथों यथा जन्मभूमि पथ, भक्तिपथ एवं मंदिर के परिसर में रेलिंग लगाने के सम्बंध में विस्तार से चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि जहां भी ड्राप डाउन बैरियर लगाया जाए आकर्षक डिज़ाइन का ही लगाया जाए, इसमें अयोध्या की ब्रांडिंग हेतु अयोध्या के लोगो को आकर्षक तौर पर सजाया जाये।

5 कोसी व 14 कोसी परिक्रमा मार्ग के कार्यों के प्रगति की समीक्षा के दौरान लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों द्वारा बताया गया कि परिक्रमा मार्ग निर्माण के सभी कार्यों को आगामी अक्टूबर माह तक पूर्ण कर लिया जाएगा। जिस पर मुख्य सचिव ने पंच कोसी परिक्रमा मार्ग के समस्त कार्यो को पूर्ण गुणवत्ता के साथ आगामी परिक्रमा मेला से पूर्व पूर्ण करने के निर्देश दिए।

बैठक में मंडलायुक्त गौरव दयाल व जिलाधिकारी नीतीश कुमार ने वर्तमान में गतिमान व प्रस्तावित विभिन्न विकास के कार्यों के संबंध में विवरण प्रस्तुत किया। मुख्य सचिव ने कहा कि वर्तमान में देश के विभिन्न स्थलों सहित विदेशों से भी श्रद्धालु रामलला के दर्शन के लिए आ रहे हैं। अयोध्या में जो भी कार्य हो रहे हैं उनकी गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए। विभिन्न पथों व मंदिर के परिसर में रेलिंग लगाने के संबंध में विस्तार से चर्चा की।

उन्होंने कहा कि आकर्षक डिजाइन के ही ड्रॉप डाउन बैरियर लगाए जाएं। उन्होंने पंचकोसी व 14 कोसी परिक्रमा मार्ग को आगामी परिक्रमा मेला से पूर्व पूर्ण करने के निर्देश दिए। अयोध्या विकास प्राधिकरण द्वारा विकसित की जा रही एयरो सिटी के प्रगति की समीक्षा के दौरान मंडलायुक्त गौरव दयाल ने बताया कि सिटी के लिए भूमि अर्जन की प्रकिया भूस्वामियों से सहमति के लिए बातचीत चल रही है।

इसके अलावा बैठक में ऑफिसर्स के लिए मल्टीस्टोरी आवासीय भवन, राज्य अतिथिगृह, मंडलायुक्त के इंटीग्रेटेड कार्यालय, नए कलेक्ट्रेट भवन के निर्माण आदि पर भी चर्चा की गई। पंचवटी दीप पर विकसित किए जा रहे राम अनुभव केंद्र और चौधरी चरण सिंह घाट पर विकसित किये जा रहे अयोध्या हाट के प्रगति की भी समीक्षा की गयी।

हिन्दुस्थान समाचार/पवन पाण्डेय

/आकाश