(अपडेट) उत्तराखंड के हिमालयी क्षेत्रों ने ओढ़ी बर्फ की चादर, बारिश और बर्फबारी जारी
- दो राष्ट्रीय राजमार्ग और दो बॉर्डर मार्ग बाधित, खोलने का कार्य जारी - केदारनाथ, बद्रीनाथ, माणा म
मौसम उत्तराखंड।


मौसम उत्तराखंड।


- दो राष्ट्रीय राजमार्ग और दो बॉर्डर मार्ग बाधित, खोलने का कार्य जारी

- केदारनाथ, बद्रीनाथ, माणा में सहित आधा दर्जन गांवों में विद्युत बाधित

देहरादून, 03 मार्च (हि.स.)। हिमालय की चोटियों पर शुरू हुई बर्फबारी का क्रम रविवार सायं को भी जारी रहा। चारधाम धाम, हेमकुंड,चकराता समेत उच्च हिमालयी क्षेत्रों ने बर्फ की मोटी चादरें ओढ़ ली हैं। देहरादून एवं मसूरी सहित निचले पहाड़ी इलाकों में भी रुक-रुककर बारिश हो रही है। बर्फबारी और बारिश से राज्य में एक बार फिर ठंडक लौट आई है।

मौसम विभाग ने पांच जनपदों में आज के लिए भारी बर्फबारी की संभावना जतायी है जबकि सोमवार से मौसम साफ रहने के आसार हैं। प्रदेश में बर्फबारी और बारिश के चलते दो राष्ट्रीय राजमार्ग, दो बॉर्डर एवं दो राज्य मार्ग और 22 ग्रामीण मोटर मार्ग बाधित हैं जिन्हें खोलने कार्य जारी है।

देहरादून में रविवार सुबह लेकर देर सायं तक रुक-रुक तेज बारिश की बौछारें गिर रही हैं। रविवार को अवकाश का दिन होने के बावजूद लोग सुबह से घरों से बाहर नहीं निकले। देहरादून के डोईवाला, ऋषिकेश, विकासनगर, कालसी, त्यूणी और उप तहसील मसूरी में हल्की बारिश हो रही है। केदारनाथ धाम में ढाई फीट से अधिक बर्फ जम गई है। धाम जारी में पिछले एक सप्ताह से बर्फबारी का दौर रविवार को भी जारी रहा। केदारनाथ धाम के साथ ही पवालीकांठा, मध्यमेश्वर, तुंगनाथ, चोपता, चंद्रशिला आदि क्षेत्रों में बर्फबारी हुई। चमोली में बद्रीनाथ धाम,उत्तरकाशी में बर्फबारी और बारिश हो रही है।

कुमाऊं के बागेश्वर जिले और अल्मोड़ा में हल्की बारिश और उच्च हिमालयी क्षेत्रों में बर्फबारी हो रही है। ग्रामीण इलाकों में काश्तकार वर्षा होने से खुश हैं। 3,000 हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की बर्फबारी जारी रहने की संभावना है। लगातार हो रही बर्फबारी के बाद चमोली के औली, हर्षिल, गौरसों, चोपता, तुंगनाथ आदि स्थलों पर पर्यटकों की आमद बढ़ गई है।

मौसम विभाग की ओर से रविवार को जारी पूर्वानुमान में उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली,पिथौरागढ़, बागेश्वर जनपदों में 3000 हजार व उससे अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में कहीं कहीं भारी बर्फबारी की संभावना है।

टिहरी, पौड़ी, देहरादून, अल्मोड़ा, चम्पावत, हरिद्वार, नैनीताल एवं ऊधम सिंह नगर जनपदों में कहीं-कहीं गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने के साथ ही ओलावृष्टि की संभावना है। इस दौरान तेज वर्षा हो सकती है। इसे देखते हुए जनपदों में आरेंज अलर्ट जारी किया गया है। राज्य में सोमवार से मौसम साफ होने की उम्मीद है।

मौसम विज्ञान केंद्र देहरादून के निदेशक बिक्रम सिंह का कहना है कि ढाई हजार मीटर से अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हल्की बर्फबारी जारी रहने की संभावना है। अन्य पहाड़ी जनपदों में भी वर्षा का दौर जारी रहेगी। सोमवार से प्रदेश का मौसम साफ रहने के आसार हैं।

राज्य आपातकालीन परिचालन केन्द्र के अनुसार चमोली जिले में ऋषिकेश-बद्रीनाथ एनएच-58 पागल नाला के पास बोल्डर आने से अवरुद्ध है। अब हनुमान चट्टी तक यातायात सुचारू है। एक जेसीबी से मार्ग को खोले जाने की कार्यवाही की जा रही है। मण्डल-चोपता राष्ट्रीय राजमार्ग 107ए यातायात सुचारू है। तहसील-गैरसैंण में 33 केवी विद्युत लाइन क्षतिग्रस्त होने से 90 ग्रामों में विद्युत व्यवस्था बाधित है, जिसे वर्तमान में सुचारू कर दिया गया है। बद्रीनाथ और माणा में भी विद्युत आपूर्ति बाधित है। वर्तमान में बारिश और बराबरी के कारण कार्य नहीं हो पा रहा है। जनपद में पेयजल आपूर्ति सुचारु हैं।

उत्तरकाशी जिले के ऋषिकेश-गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच-108)-झाला सुक्की टाप से गंगोत्री तक बर्फबारी के कारण मार्ग अवरुद्ध है। बीआरओ की ओर से 02 व्हील लोडर, 01 डोजर, 01 जे.सी.बी. तथा (25-30) मजदूरों द्वारा बर्फ हटाने का कार्य गतिमान है। ऋषिकेश-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग (एनएच-94), चिन्यालीसौड़-सुवाखोली-मसूरी मार्ग, लम्बगांव मुख्य जिला मार्ग-यातायात के लिए सुचारू है।

जनपद में 04 ग्रामीण मोटर मार्ग बर्फबारी के कारण यातायात के बाधित है। तहसील-भटवाड़ी अन्तर्गत बर्फबारी के कारण 11 केवी विद्युत लाइन क्षतिग्रस्त होने से हर्षिल, मुखवा, धराली व गंगोत्री क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति बाधित है। टिहरी जिले में सभी राष्ट्रीय राजमार्ग विद्युत आपूर्ति सुचारू है।

रुद्रप्रयाग जिले में तहसील-ऊखीमठ के स्थान भीमबली में विद्युत लाइन क्षतिग्रसत होने के कारण केदारनाथ में विद्युत आपूर्ति बाधित है।

पिथौरागढ़ जिले में 02 बार्डर मार्ग मार्ग अवरुद्ध हैं, इसे खोलने की कार्रवाई की जा रही है। थल-मुनस्यारी राज्य मार्ग यातायात सुचारू है। घटियाबगड़-लिपूलेख बॉर्डर मार्ग और गुंजी-कुट्टी-जोलीकोंग बॉर्डर मार्ग बर्फबारी के कारण यातायात के लिए अवरुद्ध, जिसे खोलने की कार्यवाही की जा रही है।

देहरादून जनपद में राष्ट्रीय राजमार्ग 707 ए- त्यूणी चकराता किमी 45 से 82 (कोटी से चकराता) में बन्द है। मार्ग को खोलने के 03 जेसीबी और 01 स्नोकटर बर्फ हटाने के लिए कार्यरत है। जनपद के अन्तर्गत 02 राज्य मार्ग और 18 ग्रामीण मार्ग बर्फबारी/मलवा आने के कारण अवरुद्ध है जिन्हें खोलने की कार्यवाही गतिमान है। जनपद में विद्युत एवं पेयजल आपूर्ति सचारू है।

हिन्दुस्थान समाचार / राजेश

/प्रभात