अवैध खनन को लेकर कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगा मातृ सदन
हरिद्वार, 02 फरवरी (हि.स.)। अवैध खनन को लेकर मातृ सदन के संस्थापक अध्यक्ष स्वामी शिवानंद महाराज ने श
स्वामी शिवानंद


स्वामी शिवानंद


हरिद्वार, 02 फरवरी (हि.स.)। अवैध खनन को लेकर मातृ सदन के संस्थापक अध्यक्ष स्वामी शिवानंद महाराज ने शासन- प्रशासन के अधिकारियों पर माफिया से मिलीभगत कर अवैध खनन को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है।

मातृ सदन आश्रम में पत्रकारों से वार्ता में स्वामी शिवानंद ने कहा कि डीएम व एसएसपी उनका फोन रिसीव नहीं करते हैं। प्रशासन की शह पर खनन माफिया गंगा को नष्ट करने पर तुले हैं और शिकायत करने पर अधिकारी कार्रवाई करने के लिए तैयार नहीं है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में गंगा और कृषि भूमि दोनों नष्ट की जा रही है। रात-दिन जेसीबी और लोडर से खनन किया जा रहा है। इसकी मॉनिटरिंग पुलिस कर रही है।

स्वामी शिवानंद ने कहा कि पहले के खनन अधिकारी ने लिखित में दिया कि पुलिस के द्वारा ही खनन हो रहा है। जब यह सूचना हमने उच्चाधिकारी को दी तो उसी अधिकारी को ट्रांसफर कर दिया गया। वर्तमान खनन अधिकारी का अधिकार क्षेत्र हरिद्वार और देहरादून है और वे फोन रात में नहीं उठाते हैं।

उन्होंने कहा ब्रह्मचारी सुधानंद को खबर मिली कि रात में 10:00 बजे भारी संख्या में जेसीबी बिशनपुर क्षेत्र में गंगा के किनारे खनन कर रही हैं, हम लोगों ने जिला मजिस्ट्रेट को फोन किया तो फोन नहीं उठाया गया।

इस पर रात में ही पर्यावरण मंत्रालय के सेक्रेटरी, एनएमसीजी के डीजी, सीपीसीबी के चेयरमैन, प्रिंसिपल सेक्रेटरी पीएमओ , सीएम उत्तराखंड , चीफ सेक्रेटरी , डीएम व एसएसपी को रात में सूचना दी गई और मेल किया गया। लेकिन अभी तक न तो कोई कार्यवाही की गई है और न ही कोई जवाब आया है।

उन्होंने कहा कि एक पत्र मुख्यमंत्री धामी को भी दिया है, अगर वे 24 घंटे में स्पष्टीकरण नहीं देते हैं तो मातृ सदन अब कोर्ट का दरवाजा खटखटाएगा।

हिन्दुस्थानसमाचार/रजनीकांत

/रामानुज