वैदिक मंत्रों के प्रभाव पर मंथन 5 मार्च से :संस्कृत विश्वविद्यालय में होगी राष्ट्रीय संगोष्ठी
जयपुर, 2 मार्च (हि.स.)। वैदिक मंत्रों का मानव जीवन पड़ने वाले प्रभाव को लेकर दो दिनों की संगोष्ठी जग
:संस्कृत विश्वविद्यालय में होगी राष्ट्रीय संगोष्ठी


जयपुर, 2 मार्च (हि.स.)। वैदिक मंत्रों का मानव जीवन पड़ने वाले प्रभाव को लेकर दो दिनों की संगोष्ठी जगद्गुरु रामानंदाचार्य राजस्थान संस्कृत विश्वविद्यालय में होगी।

संगोष्ठी संयोजक डॉ. देवेंद्र शर्मा ने बताया कि 5 और 6 मार्च को होने वाली संगोष्ठी में वाराणसी, भोपाल और बेंगलुरु सहित विभिन्न क्षेत्रों से अनेक विद्वान शामिल होंगे। कुलपति प्रो. रामसेवक दुबे की अध्यक्षता में होने वाली वेद-संगोष्ठी का उद्घाटन सांसद रामचरण बोहरा करेंगे। विश्वविद्यालय प्रवक्ता शास्त्री कोसलेंद्र दास ने बताया कि मंत्रों से सिद्धि की प्राप्ति और उनके उच्चारण को लेकर वैदिक स्वर प्रक्रिया सहित विभिन्न विषयों पर प्रो. रामानुज उपाध्याय (वाराणसी), प्रो. प्रभाकर प्रसाद (नई दिल्ली), प्रो. वीर नारायण पांडुरंगी (बेंगलुरु) और प्रो. रमाकांत पांडेय (भोपाल) सहित अनेक संस्कृत विद्वान व्याख्यान देंगे। मंत्रों के उच्चारण के साथ ही उनका प्रायोगिक स्वरूप भी प्रस्तुत किया जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/ दिनेश/संदीप