भिलाई : वसंत पंचमी पर साहित्य सृजन परिषद की समीक्षा-कवि गोष्ठी 14 को
भिलाई, 12 फ़रवरी (हि.स.)। सरस्वती जयन्ती एवं बसंत पंचमी के अवसर पर 14 फरवरी बुधवार को साहित्य सृजन प
भिलाई : वसंत पंचमी पर साहित्य सृजन परिषद की समीक्षा-कवि गोष्ठी 14 को


भिलाई, 12 फ़रवरी (हि.स.)। सरस्वती जयन्ती एवं बसंत पंचमी के अवसर पर 14 फरवरी बुधवार को साहित्य सृजन परिषद, भिलाई दोपहर ढाई बजे से दो सत्रों में दो कार्यक्रम आयोजित करने जा रही है। पहले सत्र में प्रसिद्ध शिक्षाविद, राज्य अलंकरण प्राप्त साहित्यकार एवं नाट्यशास्त्री आचार्य डॉ. महेश चन्द्र शर्मा की 8वीं पुस्तक गागर में सागर पर समीक्षा संगोष्ठी होगी। लगभग पांच दशकों के पठन-पाठन, शोध और देश-विदेश के सफल सांस्कृतिक भ्रमणों के अनुभवों के सागर का सार इस किताब में है।

इंदिरा गांधी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, पुलिस चौकी के पास, रामनगर, सुपेला, भिलाई में होने वाले इस आयोजन में मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध कथाकार डॉ. परदेशीराम वर्मा होंगे। वहीं वीणापाणि साहित्य समिति, दुर्ग के अध्यक्ष प्रदीप वर्मा अध्यक्षता करेंगे। साहित्य सृजन परिषद के अध्यक्ष एन.एल.मौर्य प्रीतम ने बताया कि श्रीमती प्रो.डॉ.नलिनी श्रीवास्तव एवं बेरला के वरिष्ठ शिक्षाविद डॉ. राजेन्द्र पाटकर स्नेहिल के समीक्षात्मक आलेखों के प्रस्तुतीकरण होंगे। शिक्षाविद काशीनाथ वर्मा एवं कवि प्रकाश मण्डल विशेष अतिथि होंगे। सायं साढ़े चार बजे द्वितीय सत्र में महत्त्वपूर्ण कवि गोष्ठी में वरिष्ठ कवि एवं अधिवक्ता तुंगभद्र सिंह राठौड़ मुख्य अतिथि होंगे और अध्यक्षता करेंगे कवि एवं छत्तीसगढ़ आसपास के सम्पादक प्रदीप भट्टाचार्य। परिषद की उपाध्यक्षा नीता कम्बोज शीरी सत्र संचालन करेंगी। आयोजक समिति के मीडिया प्रभारी डॉ.नौशाद अहमद सिद्दिक़ी सब्र ने साहित्य रसिकों से गरिमामयी उपस्थिति और साहित्य का आनन्द लेने का अनुरोध किया है।

हिन्दुस्थान समाचार/ चंद्रनारायण शुक्ल