जनवरी में लार्जकैप फंड्स की ओर बढ़ा रुझान, कुल 1,287 लाख करोड़ का निवेश
नई दिल्ली, 12 फरवरी (हि.स.)। शेयर बाजार में लगातार जारी उतार-चढ़ाव के बीच जनवरी के महीने में लार्जकै
लार्जकैप फंड्स की ओर बढ़ा रुझान


नई दिल्ली, 12 फरवरी (हि.स.)। शेयर बाजार में लगातार जारी उतार-चढ़ाव के बीच जनवरी के महीने में लार्जकैप म्युचुअल फंड्स की ओर में जबरदस्त रुझान हुआ है। इस दौरान निवेशकों ने लार्जकैप म्युचुअल फंड्स में 1,287 करोड़ रुपये का निवेश किया, जो पिछले 19 महीने के दौरान किया गया सबसे बड़ा है। आलोच्य अवधि में इन फंड्स में करीब 80 प्रतिशत अधिक निवेश हुआ है।

एसोसिएशन ऑफ म्युचुअल फंड्स इन इंडिया (एएमएफआई) से मिले आंकड़ों के मुताबिक इससे पहले जुलाई 2022 में 2,052 करोड़ रुपये का निवेश हुआ था। पिछले साल की इसी अवधि यानी जनवरी, 2023 में लार्जकैप फंड्स में कुल 716 करोड़ रुपये का निवेश किया गया था। इस तरह आलोच्य अवधि में इन फंड्स में करीब 80 प्रतिशत अधिक निवेश हुआ है।

बड़ी कंपनियों में निवेश करने वाले म्युचुअल फंड्स का एसेट बेस जनवरी के महीने में करीब 26 प्रतिशत की बढ़त के साथ 3 लाख करोड़ रुपये का हो गया है, जबकि पिछले साल जनवरी के महीने में लार्जकैप म्युचुअल फंड्स का एसेट बेस 2.38 लाख करोड़ रुपये का था। माना जा रहा है कि जनवरी के महीने में मिडकैप और स्मॉलकैप फंड्स में जम कर मुनाफावसूली होने के कारण निवेशकों की दिलचस्पी लार्जकैप फंड्स की ओर अधिक बढ़ी।

धामी सिक्योरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट प्रशांत धामी के मुताबिक छोटी और मंझोली कंपनियों के शेयरों में जबरदस्त तेजी आई है, जिसकी वजह से स्मॉलकैप और मिडकैप म्युचुअल फंड्स में निवेश करने वाले म्युचुअल फंड्स के निवेशकों ने अपना पैसा निकालना शुरू कर दिया है। इस पैसे का इस्तेमाल ज्यादातर निवेशक अब लार्जकैप फंड्स में कर रहे हैं, ताकि मार्केट के उतार चढ़ाव की वजह से नुकसान होने की संभावना को कम किया जा सके।

हिन्दुस्थान समाचार/योगिता/सुनीत