अयोध्या में अमेरिकी कंपनी खोलेगी सौ कमरे वाला रिजॉर्ट, हुआ एग्रीमेंट
- अयोध्या में उपलब्ध कराएंगे उच्च श्रेणी की पर्यटक सुविधाएं : जयवीर सिंह लखनऊ, 27 जनवरी (हि.स.)। श्
अयोध्या में अमेरिकी कंपनी खोलेगी 100 कमरे वाला रिजॉर्ट, हुआ एग्रीमेंट


- अयोध्या में उपलब्ध कराएंगे उच्च श्रेणी की पर्यटक सुविधाएं : जयवीर सिंह

लखनऊ, 27 जनवरी (हि.स.)। श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या में प्रभु श्रीराम के विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा के बाद श्रद्धालुओं और पर्यटकों की संख्या में अप्रत्याशित वृद्धि देखी जा रही है, आगे इसके और बढ़ने की संभावना है। पर्यटन की बढ़ती संभावनाओं और पर्यटकों की सुविधा के लिए हॉस्पिटैलिटी (आतिथ्य) क्षेत्र में निवेश भी बढ़ रहा है।

शनिवार को पर्यटन निदेशक प्रखर मिश्रा की उपस्थिति में पर्यटन भवन में अमेरिकी फर्म मेसर्स अंजलि इनवेस्टमेंट एलएलसी के साथ अयोध्या में 100 कमरे वाले रिजाॅर्ट निर्माण के लिए एग्रीमेंट (एमओयू) हुआ। रिजॉर्ट के बनने से अयोध्या आने वाले पर्यटकों और अतिथियों के लिए सुविधाएं बढ़ेंगी ही, पर्यटकों को उच्चतम सुविधाएं मिलेंगी और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह ने बताया कि रिजॉर्ट में निवेश करने वाली अमेरिकी रियल एस्टेट कंपनी के मालिक रमेश नांगूरनूरी, जो मूल रूप से हैदराबाद के रहने वाले हैं और वर्तमान में अमेरिका में रियल एस्टेट का कारोबार कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि राम मंदिर उद्घाटन के बाद अयोध्या में पर्यटन की अपार संभावनाओं को देखते हुए यहां रिजॉर्ट में निवेश का फैसला किया है। इसके लिए जमीन भी चिन्हित कर ली गई है। उत्तर प्रदेश पर्यटन से एमओयू हुआ है। अब जल्द ही इस पर काम शुरू हो जाएगा।

पर्यटन विभाग की निवेश पॉलिसी निवेशकों के लिए अनुकूल

पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री ने कहा कि पर्यटन विभाग की निवेश पॉलिसी निवेशकों के लिए अनुकूल है। उप्र पर्यटन के क्षेत्र में तेजी से विकास कर रहा है। घरेलू पर्यटन के मामले में देश में पहले स्थान पर हैं। विदेशी पर्यटकों के मामले में भी उपलब्धि हासिल करने का लगातार प्रयास किया जा रहा है।

रोजगार के नए अवसर होंगे सृजित

पर्यटन निदेशक प्रखर मिश्रा ने कहा कि होटल व रिजॉर्ट निर्माण से अयोध्या में श्रीराम मंदिर दर्शन को आने वाले पर्यटकों और श्रद्धालुओं का अनुभव बेहतर होगा। साथ ही सैलानियों की संख्या बढ़ेगी और स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे।

हिन्दुस्थान समाचार/कमलेश्वर शरण/राजेश