पूर्व मंत्री ने मायावती को दिया जवाब, गरीबों की दवा का ही कर दिया था घाेटाला
- मायावती ने की नगर निकाय चुनाव की समीक्षा बैठक, स्वाती सिंह ने उनके भाषणों का दिया जवाब लखनऊ, 02 अ
स्वाती सिंह।


- मायावती ने की नगर निकाय चुनाव की समीक्षा बैठक, स्वाती सिंह ने उनके भाषणों का दिया जवाब

लखनऊ, 02 अप्रैल (हि.स.)। जब भी बसपा की सरकार आयी, भ्रष्टाचार लाई। आज भी सबको याद होगा, गरीबों के वोट से राज करने वाली बसपा ने एनआरएचएम घोटाला कर गरीबों की दवा ही खा गयीं थी। स्वयं महिला होकर भी आज तक एक भी महिला को राजनीति में आगे बढ़ने नहीं दिया। आज हर गरीब समझ चुका है कि जब नगर निकाय चुनाव आया तो बसपा को कानून व्यवस्था में खामियां नजर आने लगी। यह प्रतिक्रिया भाजपा नेता और पूर्व मंत्री स्वाती सिंह ने दीं। उन्होंने कहा कि नगर निकाय चुनाव में बसपा का खाता भी नहीं खुलने वाला है।

वे बसपा प्रमुख द्वारा रविवार को नगर निकाय चुनाव को लेकर कार्यकर्ताओं के बीच कही गयी बातों को लेकर हिन्दुस्थान समाचार से विशेष प्रतिक्रिया दे रही थीं। मायावती ने कहा था, “बढ़ती महंगाई, गरीबी, बेरोजगारी और बदहाल कानून-व्यवस्था तथा इससे उत्पन्न अराजकता जैसी विकट समस्याओं से निपटने को सरकार ध्यान नहीं दे रही है, जो चिंता की बात है।” पूर्व मंत्री स्वाती सिंह ने कहा कि जिसके शासन काल में सर्वाधिक भ्रष्टाचार रहा हो, उसे रामराज्य में भ्रष्टाचार दिखाई दे रहा है। गरीबों के वोट पर राज करने वाली मायावती के बारे में आज हर गरीब समझ गया है। वह अब उनके छलावे में नहीं आने वाला। यही कारण है कि कभी सत्ता में रहने वाली बसपा का विधानसभा में मात्र एक सीट है।

पूर्व मंत्री स्वाती सिंह ने कहा कि गरीबों के लिए चिंता करने वाला इस देश में एक मात्र प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैं। उज्ज्वला योजना लाकर प्रधानमंत्री ने हर घर तक गैस-चूल्हा पहुंचाया। गरीबों को घर दिया। कोई गरीब भूखा न रहे, इसके लिए उन्होंने कोविड काल में फ्री राशन की व्यवस्था की, जो कोविड काल के बाद भी चल रहा है।

स्वाती सिंह ने कहा कि मायावती हमेशा से महिला और दलित विरोधी रही हैं। उन्होंने अपने कार्यकाल में न तो कभी गरीबों के लिए कोई योजना चलाई और न ही महिलाओं को आगे लाने का काम किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हमेशा जनकल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से महिला और गरीबों के हितों का ध्यान रखा। स्वाती सिंह ने कहा कि मायावती चाहे जितना कोशिश कर लें, जनता जान चुकी है और नगर निकाय चुनाव में बसपा का खाता भी नहीं खुलने वाला है।

हिन्दुस्थान समाचार/उपेन्द्र