अवैध पार्किंग के कारण त्योहारी सीज़न में बढ़ी जाम की समस्या, लाचार ट्रैफ़िक पुलिस कर्मी मात्र सिटी के सहारे देते हैं ड्यूटी
कठुआ, 23 अक्टूबर (हि.स.)। कठुआ शहर की मुख्य सड़कों पर अवैध पार्किंग के कारण त्योहारी सीज़न में जाम की
लाचार ट्रैफ़िक पुलिस कर्मी मात्र सिटी के सहारे देते हैं ड्यूटी


अवैध पार्किंग के कारण त्योहारी सीज़न में बढ़ी जाम की समस्या, लाचार ट्रैफ़िक पुलिस कर्मी मात्र सिटी के सहारे देते हैं ड्यूटी


कठुआ, 23 अक्टूबर (हि.स.)। कठुआ शहर की मुख्य सड़कों पर अवैध पार्किंग के कारण त्योहारी सीज़न में जाम की समस्या गंभीर होती जा रही है। राहगीरों, वाहन चालकों के साथ साथ दुकानदारों के लिए परेशानी का सबब बन रहा है। लेकिन ट्रैफ़िक पुलिस इस पर अपनी गंभीरता नहीं दिखा रही।

इस समय त्योहार का सीज़न शुरु हो चुका हैं। रामनवमी पर लोग बाज़ारों में ख़रीदारी करने के लिए निकल रहे हैं, लेकिन उन्हें जाम जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। कठुआ के शहीदी चौक से लेकर मुखर्जी चौक, कोर्ट रोड पर ट्रैफ़िक पुलिस का कोई भी कर्मी नहीं दिखाई देता है। जहाँ तक कि डीटीआई कठुआ भी आज कल लोंडी मोड़ पर नाका जमाए बैठे हैं। उन्हें भी शहर के लोगों की कोई फ़िक्र नहीं है। जब भी कभी इस तरह की ख़बरें प्रकाशित होती हैं तो अगले दिन ही कॉलेज रोड के पास नाका लगाकर 15-20 चालान काटकर खानापूर्ति कर देते हैं, उसके अगले दिन फिर जैसे का तैसा हो जाता है। राहगीरों ने बताया कि जगह जगह अवैध पार्किंग और बेतरतीब खड़े वाहनों की वजह से चलना तक मुश्किल हो चुका है। वहीं दुकानदारों ने कहा कि जाम की समस्या के कारण उनके कामकाज भी प्रभावित हुए हैं। उन्होंने बताया कि ट्रैफ़िक पुलिस का मात्र 1 कर्मी शहीदी चौक और एक मुखर्जी चौक पर तैनात रखता है लेकिन वह भी मात्र अपनी ड्यूटी करने तक ही सीमित है। वे भी जाम को हटाने की कोशिश नहीं करते हैं। मात्र एक सिटी के सहारे पूरा दिन अपनी ड्यूटी देकर खानापूर्ति करते हैं। हालाँकि जिला उपायुक्त ने त्योहार के सीज़न शुरू होने से पहले जिला सचिवालय में सभी विभागों के आला अधिकारियों के साथ एक बैठक की थी। जिसमें सभी अधिकारियों को लोगों को बेहतर सुविधाएँ प्रदान करने के लिए निर्देश जारी किए थे। लेकिन शायद डीटीआई के कानों में ये बात नहीं पड़ी, किसी भी चौक चौराहे पर ट्रैफ़िक पुलिस कर्मी नहीं दिखाई देता है। शाम ढलते ही शहीदी चौक से लेकर मुखर्जी चौक तक जाम की समस्या बढ़ जाती है। राहगीरों और दोपहिया वाहन चालकों के लिए यह समस्या आम हो चुकी है।

हिन्दुस्थान/समाचार/सचिन//बलवान