शेयर बाजार में भारी गिरावट, सेंसेक्स 65 हजार से नीचे लुढ़का
- निवेशकों को 1 दिन में 1.57 लाख करोड़ की चपत नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (हि.स.)। ग्लोबल मार्केट में आई क
शेयर बाजार में जबरदस्त गिरावट


- निवेशकों को 1 दिन में 1.57 लाख करोड़ की चपत

नई दिल्ली, 23 अक्टूबर (हि.स.)। ग्लोबल मार्केट में आई कमजोरी का असर आज घरेलू शेयर बाजार पर साफ-साफ नजर आया। बाजार की आज सपाट स्तर पर मिली जुली शुरुआत हुई थी। कारोबार शुरू होने के बाद कुछ देर तक खरीदारी का जोर बनता हुआ नजर आया। उसके बाद बाजार लगातार गिरता चला गया। चौतरफा बिकवाली की वजह से दिन का कारोबार खत्म होने तक सेंसेक्स 65 हजार के स्तर से नीचे और निफ्टी 19,300 के स्तर से नीचे लुढ़क गए थे। दिन भर हुए कारोबार के बाद सेंसेक्स 1.26 प्रतिशत और निफ्टी 1.34 प्रतिशत के गिरावट के साथ बंद हुए। आज की गिरावट के कारण निवेशकों को 7.5 लाख करोड़ रुपये से भी अधिक के नुकसान का सामना करना पड़ा।

आज के कारोबार में बीएसई के सभी सेक्टोरल इंडेक्स गिरावट के साथ लाल निशान में बंद हुए। रियल्टी, आईटी और मेटल सेक्टर के शेयरों में आज जोरदार बिकवाली होती रही। इसके अलावा फार्मास्यूटिकल, इंफ्रास्ट्रक्चर और एफएमसीजी सेक्टर भी दबाव में कारोबार करते नजर आए। आज के कारोबार में आईटी, मेटल, ऑयल एंड गैस, रियल्टी, कैपिटल गुड्स और पावर इंडेक्स 2 से 3 प्रतिशत तक की गिरावट का शिकार हो गए। इसी तरह बैंकिंग, ऑटोमोबाइल, एफएमसीजी और फार्मास्यूटिकल इंडेक्स में 1 से 2 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गई। ब्रॉडर मार्केट में भी आज लगातार बिकवाली का दबाव बना रहा। लगातार हो रही बिकवाली के कारण मिडकैप इंडेक्स 2.51 प्रतिशत टूट गया। इसी तरह स्मॉलकैप इंडेक्स ने 4.18 प्रतिशत की कमजोरी के साथ आज के कारोबार का अंत किया।

आज बाजार में हुई जोरदार बिकवाली के कारण स्टॉक मार्केट के निवेशकों की संपत्ति में 7.5 लाख करोड़ रुपये से अधिक की कमी हो गई। बीएसई में लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैपिटलाइजेशन आज के कारोबार के बाद घट कर 311.33 लाख करोड़ रुपये (अस्थाई) हो गया। पिछले सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन यानी शुक्रवार को इनका मार्केट कैपिटलाइजेशन 318.90 लाख करोड़ रुपये था। इस तरह निवेशकों को आज के कारोबार से करीब 7.57 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हो गया।

आज दिन भर के कारोबार में बीएसई में 3,990 शेयरों में एक्टिव ट्रेडिंग हुई। इनमें 638 शेयर बढ़त के साथ बंद हुए, जबकि 3,196 शेयरों में गिरावट का रुख रहा, वहीं 156 शेयर बिना किसी उतार चढ़ाव के सपाट स्तर पर बंद हुए। एनएसई में आज 2,149 शेयरों में एक्टिव ट्रेडिंग हुई। इनमें से 169 शेयर मुनाफा कमाकर हरे निशान में और 1,980 शेयर नुकसान उठाकर लाल निशान में बंद हुए। इसी तरह सेंसेक्स में शामिल सिर्फ 2 शेयर बढ़त के साथ और 28 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए। इसी तरह निफ्टी में शामिल शेयरों में से भी सिर्फ 2 शेयर हरे निशान में और 48 शेयर लाल निशान में बंद हुए।

बीएसई का सेंसेक्स आज 21.40 अंक की मामूली बढ़त के साथ 65,419.02 अंक के स्तर पर खुला। कारोबार की शुरुआत होते ही लिवाली के मामूली सपोर्ट से ये सूचकांक उछल कर 65,453.92 अंक के स्तर पर पहुंचा। उसके बाद बिकवाली का दबाव बढ़ने पर ये सूचकांक लगातार नीचे गिरता चला गया। विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने आज दिन भर बिकवाली का दबाव बनाए रखा, जिसकी वजह से ये सूचकांक 894.94 अंक का गोता लगा कर 64,502.68 अंक के स्तर तक गिर गया। दिन भर हुई खरीद बिक्री के बाद सेंसेक्स 825.74 अंक की कमजोरी के साथ 64,571.88 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

सेंसेक्स के विपरीत एनएसई के निफ्टी ने आज 21.05 अंक की गिरावट के साथ 19,521.60 अंक के स्तर से कारोबार की शुरुआत की। शुरुआती कारोबार में हुई खरीदारी की मदद से ये सूचकांक भी करीब 30 अंक की रिकवरी करके 19,556.85 अंक के स्तर पर पहुंचा। इसके बाद शेयर बाजार पर बिकवाल पूरी तरह से हावी हो गए, जिसकी वजह से ये सूचकांक लगातार गिरता चला गया। आज का कारोबार खत्म होने के थोड़ी देर पहले लगातार हो रही बिकवाली की वजह से ये सूचकांक 284.80 अंक की बड़ी गिरावट के साथ 19,257.85 अंक के स्तर तक लुढ़क गया था। हालांकि आखिरी समय में इंट्रा-डे सेटलमेंट की वजह से हुई खरीदारी के कारण निफ्टी निचले स्तर से करीब 24 अंक की रिकवरी करके 260.90 अंक की कमजोरी के साथ 19,281.75 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

दिन भर हुए कारोबार के बाद स्टॉक मार्केट के दिग्गज शेयरों में से सिर्फ महिंद्रा एंड महिंद्रा 0.44 प्रतिशत और बजाज फाइनेंस 0.38 प्रतिशत की मजबूती के साथ बंद होने में सफल रहे। एलटी माइंडट्री 3.96 प्रतिशत, अडाणी एंटरप्राइजेज 3.56 प्रतिशत, हिंडाल्को इंडस्ट्रीज 3.19 प्रतिशत, अडाणी पोर्ट्स 2.80 प्रतिशत और यूपीएल 2.78 प्रतिशत की गिरावट के साथ आज के टॉप 5 लूजर्स की सूची में शामिल हुए।

हिन्दुस्थान समाचार/ योगिता/दधिबल