मुख्यमंत्री ने विजयदशमी पर्व की दी बधाई, बोले-सामाजिक समरसता के लिए मिलजुलकर करें कार्य
देहरादून, 23 अक्टूबर (हि.स.)। मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को विजयदशमी की बधाई और शुभकामनाएं देते हु
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।


देहरादून, 23 अक्टूबर (हि.स.)। मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों को विजयदशमी की बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हम अपने जीवन में अहंकार से मुक्त होकर सच्चाई के रास्ते पर चलें और प्रदेश व देश की सामाजिक समरसता के लिए मिलजुल कर कार्य करें।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विजयदशमी की पूर्व संध्या पर जारी अपने संदेश में कहा कि विजयदशमी का पर्व अधर्म पर धर्म, बुराई पर अच्छाई और असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक है। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम सत्य, मर्यादा, न्याय, शांति, परोपकार और लोक कल्याण के लिए समर्पित थे। उनका जीवन हमें सद्मार्ग पर चलने और आदर्श जीवन जीने की प्रेरणा देता है।

उन्होंने कहा कि विजयादशमी शक्ति उपासना का उत्सव भी है। सम्पूर्ण भारत में यह पर्व परंपरागत श्रद्धा भाव एवं हर्षाेल्लास के साथ मनाया जाता है। यह पर्व समृद्धशाली भारतीय संस्कृति का प्रतीक है। यह पर्व हमें अपने अंदर की बुराई का नाश कर अच्छाई के पथ पर बढ़ने की भी प्रेरणा देता है।

हिन्दुस्थान समाचार/राजेश/रामानुज