चार धाम में यात्रियों की रिकार्ड बढ़ोतरी से राज्य की आर्थिकी में बदलाव के सुखद संकेत : महेन्द्र भट्ट
देहरादून, 23 अक्टूबर (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा कि चा
चार धाम में यात्रियों की रिकार्ड बढ़ोतरी से राज्य की आर्थिकी में बदलाव के सुखद संकेत : महेन्द्र भट्ट


देहरादून, 23 अक्टूबर (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा कि चार धाम यात्रा में रिकॉर्ड संख्या में यात्रियों के आने से राज्य की आर्थिकी में बढ़ोतरी होना सुखद संकेत है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने वर्तमान सीजन में चार धाम पहुंचने वाले यात्रियों की संख्या 50 लाख के पार पहुंचने पर यह प्रतिक्रिया दी। उन्होंने इसे राज्य में पर्यटन और कारोबारियों की आर्थिकी में निर्णायक बदलाव का संकेत बताया।

उन्होंने कहा कि केदारनाथ आपदा और साल दर साल मानसूनी आपदा ने राज्य में पर्यटन व्यवसाय की कमर तोड़ कर रख दी थी, लेकिन प्रधानमंत्री के विजन और आत्मविश्वास से परिपूर्ण 12 हजार करोड़ की चार धाम ऑल वेदर रोड और केदार धाम पुनर्निर्माण की लगभग 2 हजार करोड़ और बद्रीनाथ धाम कॉरिडोर के प्रथम चरण के 5 सौ करोड़ रुपये की परियोजना ने देवभूमि की सूरत बदल कर रख दी है। यही वजह है कि कोरोना महामारी के बाद सबसे अधिक तेजी से पर्यटकों ने उत्तराखंड का रुख़ किया है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में धामी सरकार के कुशल प्रबंधन ने राज्य की यात्राओं को बेहद सुगम और सुरक्षित बनाया है, जिसके कारण यहां आने वाले पर्यटकों के शानदार अनुभव ने मात्र तीन वर्षों में ही नया रिकॉर्ड कायम कर लिया है। मानसून समाप्ति के बाद एक बार फिर चार धाम और देवभूमि की वादियां पर्यटकों से गुलजार हैं, जिसको देखते हुए उम्मीद है कि श्रद्धालुओं का यह आकड़ा नई ऊंचाई पर पहुंचेगा।

भट्ट ने कहा कि राज्य की आर्थिकी में पर्यटन और तीर्थाटन का बड़ा योगदान है। ऐसे में यहां के सभी प्रमुख स्थलों में मौजूद आधारभूत सुविधाओं में हुए सुधार और यहां पहुंचाने वाले मार्गों की सुगमता सर्वाधिक जरूरी थी। आज चार धाम यात्रा से जुड़ी इन तमाम व्यवस्थाओं को लेकर जारी कई परियोजनाएं लगभग पूरी हो गई हैं, जिसका सकारात्मक असर यात्रा पर दिखाई देने लगा है।

उन्होंने कहा कि यात्रियों की इस बढ़ती संख्या का असर राज्य के पर्यटन व्यवसाय में वृद्धि के रूप में दिखाई देने लगा है, जिसका सर्वाधिक लाभ स्थानीय कारोबारियों को मिल रहा है, जो आने वाले दिनों में उनकी आर्थिकी में निर्णायक बदलाव लेकर आएगा। इन तमाम तीर्थ स्थलों में सुविधाओं और उन तक पहुंचने वाले राजमार्गों के बारहमासी खुलने से यात्रा सीजन से अलग भी बड़ी संख्या में पर्यटकों के पहुंचने का सिलसिला लगातार बढ़ रहा है।

ऋषिकेश कर्णप्रयाग रेल की महत्वाकांक्षी परियोजना का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि इसके पूर्ण होते ही राज्य के पर्यटन व्यवसाय में बड़ा बूम आना तय है। पर्यटन व्यवसाय के लिए जिस आधारभूत ढांचे की आवश्यकता होती है, उसे तैयार करने में हम सफल हो गए हैं। इस क्षेत्र में हमारी छलांग दर्शाती है कि राज्य में विकास सही दिशा में और तीव्र गति से हो रहा है।

हिन्दुस्थान समाचार/राजेश/रामानुज