आवास विकास भूखंड फर्जीवाड़े में सेवानिवृत्त आईएएस सहित चार पर केस दर्ज
- इसमें दो आरोपितों की हो चुकी है मौत लखनऊ, 23 अक्टूबर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गा
आवास विकास भूखंड फर्जीवाड़े में सेवानिवृत्त आईएएस सहित चार पर केस दर्ज


- इसमें दो आरोपितों की हो चुकी है मौत

लखनऊ, 23 अक्टूबर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गाजीपुर थाना में सीबीसीआईडी ने सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी सत्येन्द्र सिंह सहित चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। इनमें दो आरोपितों की मौत हो चकी है। आरोप है कि आवास विकास परिषद की इंदिरानगर आवासीय योजना के भूखंड आवंटन में फर्जीवाड़ा हुआ है।

जानकारी के मुताबिक परिषद की इंदिरानगर योजना में नीलामी के माध्यम से इंदिरानगर की बी-13 में रहने वाली सविता गर्ग को 23 सितम्बर 1991 में भूखंड आवंटित हुआ था लेकिन सविता को आवंटित इस भूखंड को जब एक कांस्ट्रक्शन कंपनी को मिला तो मामला प्रकाश में आया था।

इस मामले में शिकायत दर्ज करायी गई। नेहरू एन्कलेव निवासी कृष्णकांत मिश्रा का आरोप है कि सविता ने प्रीमियम कांस्ट्रक्शंस के प्रतिनिधि के तौर पर नीलामी में हिस्सा लिया था। हालांकि सविता ने इससे इंकार कर दिया था।

इसके बाद साल 2020 में गृह सचिव मणि प्रसाद ने पुख्ता सबूत मिलने के बाद सीबीसीआईडी ने जांच के आदेश दिए थे। जांच के बाद सेवानिवृत्त आईएएस सत्येंद्र सिंह, तत्कालीन संपत्ति प्रबंध अधिकारी कृपाशंकर मिश्रा, विजय कुमार मेहरोत्रा और लेखाधिकारी सुरेश के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। इस केस में आरोपित बनाए गए सुरेश और कृपाशंकर की मौत हो चुकी है।

हिन्दुस्थान समाचार/दीपक/प्रभात