जैसलमेर में त्रि शक्ति बहुआयामी अभियान का आगाज
जैसलमेर के वायुसेना स्टेशन से मंगलवार को भारतीय सेना के सुदर्शन चक्र कोर के तत्वावधान में त्रि शक्ति बहुआयामी अभियान की शुरुआत हुई। इस त्रि शक्ति बहुआयामी अभियान को मंगलवार सुबह जैसलमेर वायु सेना स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। राजस्थान और गुजरात के सीमावर्ती क्षेत्रों में एक अद्वितीय बहुआयामी अभियान का उद्देश्य सशस्त्र बलों के साहस की संयुक्त भावना को उजागर करना है।

 
फ़ोटो ०१

जैसलमेर, 17 अक्टूबर (हि.स.)। जैसलमेर के वायुसेना स्टेशन से मंगलवार को भारतीय सेना के सुदर्शन चक्र कोर के तत्वावधान में त्रि शक्ति बहुआयामी अभियान की शुरुआत हुई। इस त्रि शक्ति बहुआयामी अभियान को मंगलवार सुबह जैसलमेर वायु सेना स्टेशन से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। राजस्थान और गुजरात के सीमावर्ती क्षेत्रों में एक अद्वितीय बहुआयामी अभियान का उद्देश्य सशस्त्र बलों के साहस की संयुक्त भावना को उजागर करना है।

इस अभियान में महिला अधिकारियों और अग्निवीरों सहित सेना, नौसेना और वायु सेना की तीनों सेवाओं के चालीस से अधिक सदस्य शामिल हो रहे हैं। अभियान के दौरान सदस्यों द्वारा मोटरसाइकिल, 4x4 जीप रैली, कैमल सफारी, माइक्रोलाइट फ्लाइंग, इंदिरा गांधी नहर में राफ्टिंग और साइकिलिंग करेंगे।

प्रतिभागी जैसलमेर से कच्छ के रण के उत्तरी किनारे तक तथा राजस्थान की सीमा पार और ऐतिहासिक शहरों बाड़मेर, मुनाबाओ, लोंगेवाला, तनोट, रामगढ़, किशनगढ़ और भारेवाला से गुजरेंगे। अभियान में सैनिक सशस्त्र बलों द्वारा राष्ट्र निर्माण प्रयासों पर भी प्रकाश डालेंगे। वे स्थानीय निवासियों से मिल कर समुदायों के साथ जुड़ कर कई स्थानों पर पौधरोपण करके पर्यावरण जागरूकता को बढ़ावा देने, हरित ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने, महिला सशक्तीकरण की आवश्यकता पर प्रकाश डालने, विभिन्न युवा सहभागिता गतिविधियां शुरू करने और श्रद्धांजलि अर्पित करने का कार्य करेंगे। युद्ध नायकों और युद्ध के दिग्गजों और वीरता पुरस्कार विजेताओं के साथ बातचीत करने के साथ यह अभियान दल रास्ते में पड़ने वाले गांवों में चिकित्सा शिविर भी आयोजित करेगा और सीमावर्ती क्षेत्रों के एक गांव में ताजे पानी का बोरवेल भी उपलब्ध कराएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/चंद्रशेखर/संदीप/दधिबल