सीईपीए लागू होने के बाद भारत से यूएई का निर्यात बढ़कर 5.17 अरब डॉलर
-भारत से यूएई को होने वाला निर्यात जून-अगस्त के दौरान 14 फीसदी बढ़ा नई दिल्ली, 25 सितम्बर (हि.स)।
निर्यात के लोगो का फाइल फोटो 


-भारत से यूएई को होने वाला निर्यात जून-अगस्त के दौरान 14 फीसदी बढ़ा

नई दिल्ली, 25 सितम्बर (हि.स)। भारत और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के बीच मई में व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौता (सीईपीए) लागू हाने के बाद से निर्यात में इजाफा हुआ है। दोनों देशों के बीच सीईपीए लागू होने के बाद रत्न, आभूषण, चीनी से बने उत्पाद, अनाज, इलेक्ट्रिकल मशीनरी तथा अन्य उत्पादों के निर्यात में वृद्धि हुई है।

वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय ने रविवार को जारी बयान में कहा कि भारत से यूएई को होने वाला निर्यात (पेट्रोलियम उत्पादों को छोड़कर) जून-अगस्त के बीच 14 फीसदी बढ़कर 5.92 अरब डॉलर हो गया, जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह 5.17 अरब डॉलर था। हालांकि, इस दौरान पोत, नौका, तैरने वाले ढांचे, परिधान, दवा उत्पाद, एल्युमिनियम, ऑर्गेनिक रसायन, गलीचे और रेशम जैसे उत्पाद क्षेत्रों के निर्यात में गिरावट दर्ज की गई है।

मंत्रालय के मुताबिक निर्यातकों के बीच सीईपीए का उपयोग बढ़ रहा है। वाणिज्य मंत्रालय भी इस समझौते को बढ़ाने का भरपूर प्रयास कर रहा है। इससे आने वाले महीनों में भारत से यूएई को होने वाला निर्यात और बढ़ने की उम्मीद है। गौरतलब है कि भारत और यूएई के बीच हुआ व्यापक आर्थिक साझेदारी समझौता (सीईपीए) इस साल एक मई, 2022 से प्रभाव में आया था।

हिन्दुस्थान समाचार/प्रजेश शंकर


 rajesh pande