पांच लाख की अवैध और नशीली दवाइयां पकड़ी, सील
मुरादाबाद, 22 सितम्बर (हि.स.)। मुरादाबाद के थाना मूंढापांडे क्षेत्र में ग्राम करनपुर में नकली और अवै
मूंढापांडे क्षेत्र में ग्राम करनपुर में नकली और अवैध औषधियों एवं नशीली दवाईयां सील करने की कार्रवाई करती औषधि विभाग की टीम।


मूंढापांडे क्षेत्र में ग्राम करनपुर में नकली और अवैध औषधियों एवं नशीली दवाईयां सील करने की कार्रवाई करती औषधि विभाग की टीम।


मुरादाबाद, 22 सितम्बर (हि.स.)। मुरादाबाद के थाना मूंढापांडे क्षेत्र में ग्राम करनपुर में नकली और अवैध औषधियों एवं नशीली दवाई का बिना लाइसेंस के अवैध कारोबार का मामला गुरुवार शाम को प्रकाश में आया। छापामार कार्रवाई करके ड्रग विभाग ने करीब पांच लाख कीमत की अवैध और नशीली दवाइयां पकड़ी, इन दवाइयों को सील कर दिया गया है।

थाना मूंढापांडे क्षेत्र के करनपुर गांव का है। यहां ड्रग विभाग ने गोपनीय सूचना पर छापेमारी कर इस गोरखधंधे का खुलासा किया। करनपुर में बिना लाइसेंस के दवाओं को रखा और बेचा जा रहा था। ड्रग विभाग के सहायक आयुक्त औषधि दीपक शर्मा ने सूचना के बाद टीम गठित की। इसमें ड्रग इस्पेक्टर मुकेश जैन, उर्मिला वर्मा, अमरोहा के ड्रग इंस्पेक्टर राजेश कुमार के साथ छापेमारी की गई। टीम ने बताया कि मौके पर आफताब आलम निवासी खैरखाता मौजूद मिले। टीम ने पूरे परिसर को खंगाला तो करीब पांच लाख रुपये कीमत की एलोपैथिक दवाइयों का भंडारण मिला। इन दवाइयों में तमाम नशीली दवाइयां थीं जिनका बिना पर्चे लोग नशे के रूप में इस्तेमाल करते हैं।

ड्रग इंस्पेक्टर मुकेश जैन ने बताया कि इनके पास कोई लाइसेंस भी नहीं था। चार प्रकार की औषधियों को संदिग्ध मानते हुए उनके नमूने भरे गए। इन नमूनों को लैब में परीक्षण के लिए भेजा गया है। प्रकरण की विवेचना के बाद इसका वाद न्यायालय में दायर किया जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/निमित


 rajesh pande