पशुपालन मंत्री ने केन्द्रीय राज्य मंत्री से लंपी को महामारी घोषित करने की मांग की
जयपुर एयरपोर्ट पर केंद्रीय पशुपालन राज्य मंत्री संजीव बालियान से मिले मंत्री लालचंद कटारिया जयपुर, 2
Animal Husbandry Minister meets Union Minister


Animal Husbandry Minister meets Union Minister


जयपुर एयरपोर्ट पर केंद्रीय पशुपालन राज्य मंत्री संजीव बालियान से मिले मंत्री लालचंद कटारिया

जयपुर, 22 सितंबर (हि.स.)। कृषि एवं पशुपालन मंत्री लालचंद कटारिया ने गुरुवार शाम को जयपुर एयरपोर्ट पर केंद्रीय पशुपालन राज्य मंत्री संजीव बालियान से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने केन्द्रीय मंत्री को राज्य में गौवंश में फैली लंपी स्किन बीमारी के बारे में बताया और प्राकृतिक आपदा के तहत इसे महामारी घोषित कर पशुपालकों को राहत पहुंचाने का आग्रह किया।

मंत्री कटारिया ने केंद्रीय राज्य मंत्री को बताया कि राज्य सरकार गौवंशीय पशुओं में लंपी स्किन डिजीज की रोकथाम के लिए निरंतर कार्य कर रही है। नए पशु चिकित्सक एवं पशुधन सहायक लगाने के साथ ही अब तक करीब 15 लाख गौवंशीय पशुओं का टीकाकरण और 13 लाख से अधिक पशुओं का उपचार किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि टीकाकरण में तेजी लाते हुए एक ही दिन में 95 हजार गायों में टीकाकरण किया गया है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने औषधियां एवं वैक्सीन खरीदने के लिए 30 करोड़ रुपये का अतिरिक्त आवंटन किया गया है। राजस्थान में 46 लाख लंपी गोट पॉक्स वैक्सीन के क्रय की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है, जिसमें से 16 लाख वैक्सीन मिल गई है।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को 29 अगस्त को पत्र लिखकर लंपी बीमारी को प्राकृतिक आपदा के तहत महामारी घोषित करने का आग्रह किया है। ताकि पशुपालकों और गौशालाओं को इस बीमारी से मरने वाले गोवंश का मुआवजा दिलवाकर पशुपालकों को राहत दी जा सके। उन्होंने इस संबंध में केंद्रीय पशुपालन मंत्री से सहयोग की अपेक्षा करते हुए महामारी घोषित करवाने का आग्रह किया। उन्होंने वैक्सीन की आपूर्ति में भी पहले की तरह सहयोग करते हुए उपलब्धता सुनिश्चित करने का आग्रह किया।

केंद्रीय पशुपालन राज्य मंत्री संजीव बालियान ने केंद्र सरकार की ओर से लंपी बीमारी से निपटने के लिए राज्य को हरसंभव सहयोग के लिए आश्वस्त किया।

हिन्दुस्थान समाचार/ ईश्वर


 rajesh pande