आजादी का अमृत महोत्सव: रांची विवि के छात्र-छात्राओं ने चित्र प्रदर्शनी का किया अवलोकन
रांची, 30 अगस्त (हि.स.)। रांची विश्वविद्यालय के मोरहाबादी स्थित दीक्षांत मंडप परिसर में केंद्रीय संच
तस्वीर


तस्वीर


रांची, 30 अगस्त (हि.स.)। रांची विश्वविद्यालय के मोरहाबादी स्थित दीक्षांत मंडप परिसर में केंद्रीय संचार ब्यूरो रांची-गुमला की पांच दिवसीय चित्र प्रदर्शनी के तीसरे दिन मंगलवार को रांची विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों के छात्र-छात्राओं ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया।

यह प्रदर्शनी आजादी के अमृत महोत्सव विषय पर आयोजित किया गया है। इस दौरान छात्रों ने झारखंड के स्वतंत्रता सेनानियों की जीवनी के बारे में जाना एवं भारत की आजादी के संघर्ष को दुर्लभ चित्रों के माध्यम से समझा। कई छात्रों ने इन दुर्लभ तस्वीरों को मोबाइल में भी सहेजा। इस प्रदर्शनी में भारत सरकार के फोटो डिवीजन के द्वारा उपलब्ध कराए गए। आजादी से जुडी विभिन्न दुर्लभ तस्वीरों से संबंधित पैनल भी लगाए गए हैं। इनमें शिमला सम्मेलन वर्ष 1945, आजाद हिंद फौज, भारत छोड़ो आंदोलन वर्ष 1942 से संबंधित तस्वीर शामिल है।

प्रदर्शनी स्थल पर आजादी के अमृत महोत्सव पर समर्पित सेल्फी बूथ भी लगाया गया है, जिसे लेकर युवाओं में काफी उत्साह देखा गया। कई छात्र छात्राओं ने यहां सेल्फी भी ली। रांची विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग के प्राध्यापक डॉ. कंजीव लोचन एवं पत्रकारिता विभाग के मनोज कुमार ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया एवं महत्वपूर्ण सुझाव दिए।

इस प्रदर्शनी में अमृत महोत्सव को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय स्तर के प्रमुख स्वतंत्रता सेनानियों पर लोगों का ध्यान आकृष्ट किया गया है। साथ ही झारखंड के स्वतंत्रता सेनानियों जैसे बिरसा मुंडा, तेलंगा खड़िया, सिद्धो कान्हो, अमानत अली, सलामत अली, एवं शेख हारो आदि पर भी स्पेशल चित्र प्रदर्शनी लगाई गई है। इसके अलावा गरीबों और वंचित लोगों की सेवा, नारी शक्ति, किसान कल्याण, आयुष और योग के जरिए स्वास्थ्य, राष्ट्रीय शिक्षा नीति युवा शक्ति आदि से जुड़ी प्रमुख योजनाओं के बारे में जानकारी दी जा रही है।

प्रदर्शनी के दौरान आयुष विभाग रांची के द्वारा आयुर्वेद, योग और प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्ध और होम्योपैथी (आयुष) से संबंधित स्टॉल भी लगाया गया है। इस मौके पर विभाग के द्वारा कोरोना किट एवं आवश्यक दवाइयों का भी वितरण किया जा रहा है। खादी और ग्रामोद्योग आयोग की ओर से भी प्रदर्शनी लगाई गई है। मौके पर पोस्ट ऑफिस का स्टॉल भी है जिसमें जनोपयोगी योजनाओं के बारे में बताया जा रहा है।

हिन्दुस्थान समाचार/ विकास/चंद्रप्रकाश

 

 rajesh pande