रामदेवरा जा रहे पैदलयात्रियों की सुरक्षा का हो पुख्ता इंतजाम: मुख्यमंत्री
जयपुर, 15 अगस्त (हि.स.)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को मुख्यमंत्री निवास पर रामदेवरा मेले में
रामदेवरा जा रहे पैदलयात्रियों की सुरक्षा का हो पुख्ता इंतजाम: मुख्यमंत्री


जयपुर, 15 अगस्त (हि.स.)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को मुख्यमंत्री निवास पर रामदेवरा मेले में भाग लेने के लिए आ रहे पैदलयात्रियों की सुरक्षा व्यवस्था के संबंध में महत्वपूर्ण बैठक ली। उन्होंने पाली में रोहट के पास हुए सड़क हादसे में श्रद्धालुओं के निधन पर संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि पैदल यात्रियों की सुरक्षा के लिए प्रशासन सभी आवश्यक कदम उठाए ताकि इस तरह की दुखद घटनाओं की रोकथाम हो सके। उन्होंने कहा कि रामदेवरा मेले में आ रहे पैदल यात्रियों के लिए जहां संभव हो कॉरिडोर बनाकर उनकी पालना सुनिश्चित कराई जाए। जिन जिलों से पैदल यात्री गुजर रहे हैं वहां जिला कलेक्टर उच्च अधिकारियों के साथ नियमित बैठक कर सभी तरह की पुख्ता व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की असुविधा ना हो इसके लिए प्रशासन पूरी तरह से चाक-चौबंद रहे। अधिक आवाजाही वाले जिलों में प्रशासन द्वारा विशेष अभियान चलाकर शराब पीकर गाड़ी चलाने वाले तथा ओवर स्पीडिंग करने वाले वाहन चालकों पर कार्रवाई की जाए। इसके लिए आवश्यकतानुसार मोबाइल यूनिट व नाकों की स्थापना की जाए। उन्होंने कहा कि पैदल यात्रियों को अधिक से अधिक रेडियम टेप व रिबन का वितरण किया जाए, जिन्हें बैग पर चिपकाकर या हाथ में पहनकर रात में चलते समय हादसों से बचा जा सके।

गहलोत ने कहा कि जहां आवश्यक हो ओवर स्पीडिंग पर काबू पाने के लिए सड़कों पर अस्थाई स्पीड ब्रेकर बनाए जाएं तथा स्पीड-लिमिट के साइनबोर्ड भी लगाए जाएं। यात्रा के दौरान किसी भी आपात स्थिति में त्वरित कार्रवाई के लिए महत्वपूर्ण बिंदुओं पर एम्बुलेंस की पुख्ता व्यवस्था हो। उन्होंने कहा कि थोड़ी-थोड़ी दूरी पर सहायता कैम्प्स के माध्यम से प्रशासन द्वारा सुरक्षित पैदल यात्रा के लिए श्रद्धालुओं के लिए लाउड स्पीकर पर आवश्यक सावधानियों का प्रचार किया जाए। अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि पैदल यात्रियों के शिविर सड़क के किनारे से पर्याप्त दूरी पर बनाए जाएं। पैदल यात्रियों के लिए बने विशेष रूट्स को सेनेटाइज किया जाए ताकि यात्रा में आसानी हो सके। उन्होंने अधिकारियों को पैदल यात्रा के मार्गों पर ओवरलोड वाहनों पर भी निगरानी रखने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रशासन द्वारा हाल ही में कावड़ यात्राओं का शानदार प्रबंधन किया गया है, जिससे बिना किसी अप्रिय घटना के कावड़ यात्राओं का आयोजन संपन्न हुआ। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि यह त्योहारों और मेलों का समय है। रामदेवरा मेले में प्रदेशभर तथा पड़ोसी राज्यों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं। पिछले दो साल कोविड महामारी की वजह से मेले का आयोजन स्थगित रहने के कारण इस वर्ष श्रद्धालु सामान्य से अधिक संख्या में आ रहे हैं। अतः प्रशासन का कर्तव्य है कि कावड़ यात्राओं के समान ही रामदेवरा मेले का भी सुरक्षित एवं व्यवस्थापूर्वक आयोजन करवाया जाए।

हिन्दुस्थान समाचार/संदीप/ ईश्वर

 

 rajesh pande