मप्र न्यायाधीश संघ का वर्चुअल महाधिवेशन और ऑनलाइन चुनाव आज
जबलपुर, 03 जुलाई (हि.स.)। मप्र उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधिपति न्यायमूर्ति रवि मलीमठ के मार्गदर्श
मप्र न्यायाधीश संघ का वर्चुअल महाधिवेशन और ऑनलाइन चुनाव आज


जबलपुर, 03 जुलाई (हि.स.)। मप्र उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधिपति न्यायमूर्ति रवि मलीमठ के मार्गदर्शन में आज (रविवार को) मध्य प्रदेश न्यायाधीश संघ का वर्चुअल महाधिवेशन एवं ऑनलाइन चुनाव आयोजित किया जा रहा है। यह वर्चुअल महाधिवेशन देश में आयोजित अपनी तरह का पहला कार्यक्रम है।

बताया गया है कि इस महाधिवेशन में प्रदेश के लगभग 1650 न्यायिक अधिकारी शामिल होंगे। सम्मेलन के बाद मप्र न्यायाधीश संघ के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होगा, जो राज्य के न्यायिक अधिकारियों के कल्याण के लिए काम करने वाली प्रमुख संस्था है। न्यायाधीश संघ के अध्यक्ष का कार्यकाल दो वर्ष का होता है।

उल्लेखनीय है कि न्यायाधीश संघ 27 अगस्त 1998 को एक पंजीकृत सोसायटी के रूप में अस्तित्व में आया और अपने विनियमों द्वारा संचालित होता है। न्यायाधीश संघ का मुख्य उद्देश्य न्यायिक अधिकारियों के कार्यस्थल पर अनुकूल वातावरण बनाने, सेवा शर्तों में सुधार, उनके बौद्धिक उत्थान के लिए काम करना और लगातार परिवर्तनशील परिवेश के प्रतिचेतना और जागरुकता पैदा करते हुए देश के नागरिकों को सामाजिक, राजनैतिक व आर्थिक न्यायदान प्रदान करने के लिए न्यायिक अधिकारियों को प्रेरित करना है।

वर्तमान अध्यक्ष वर्ष 2019 में चुने गए थे। हालांकि, महामारी कोविड-19 के प्रकोप के कारण 2021 में चुनाव नहीं हो सके थे, मप्र उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति रवि मलीमठ ने न्यायाधीश संघ के सदस्यों को ऑनलाइन मोड में चुनाव कराने के लिए प्रेरित किया। इसके बाद यह आनलाइन चुनाव आयोजित हो रहे हैं।

न्यायाधीश संघ के निर्वाचित अध्यक्ष, संघ के सचिव तथा अन्य पदाधिकारियों के नामों का प्रस्ताव करेंगे और कार्यकारणी का गठन करेंगे। महाधिवेशन का शुभारंभ निवर्तमान अध्यक्ष के अभिभाषण से होगा और उसके बाद वरिष्ठता के क्रम में अध्यक्ष पद के उम्मीदवारों के अभिभाषण होंगे। न्यायिक अधिकारियों द्वारा उनकी पदस्थापना के स्थान से गुप्त मतदान सुनिश्चित करने के लिए न्यायाधीश संघ द्वारा एक पोर्टल बनाया गया है। ईमेल और सोशल मीडिया पर भी हेल्प वीडियो और वोटिंग लिंक प्रसारित किए गए हैं। न्यायिक अधिकारी अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर प्राप्त ओटीपी का उपयोग करके अपना वोट डाल सकते हैं। वोटिंग सुबह 11 बजे शुरू होगी और लिंक दोपहर 03 बजे तक खुली रहेगी। भोपाल की प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश गिरिबाला सिंह को मुख्य चुनाव अधिकारी नामित किया गया है, जबकि अजय सिंह ठाकुर और आरपीएस चुण्डावत सहायक निर्वाचन अधिकारी हैं।

हिन्दुस्थान समाचार / मुकेश


 rajesh pande