रोहतक: सरकार की गलत नियत व नीतियों से प्रदेश में खड़ी हुई बेरोजगारों की फौज: बलराज कुंडू
महम के विधायक बोले, गठबंधन सरकार को प्रदेश के लाखों बेरोजगारों की कोई चिंता नहीं सेंट्रल फॉर मॉनिटरि
रोहतक: सरकार की गलत नियत व नीतियों से प्रदेश में खड़ी हुई बेरोजगारों की फौज: बलराज कुंडू


महम के विधायक बोले, गठबंधन सरकार को प्रदेश के लाखों बेरोजगारों की कोई चिंता नहीं

सेंट्रल फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनॉमी के मुताबिक 30.06 प्रतिशत बेरोजगारी दर के साथ हरियाणा फिर नम्बर वन

रोहतक, 2 जुलाई (हि.स.)। जन सेवक मंच के संयोजक एवं महम से आजाद विधायक बलराज कुंडू ने राज्य की बेरोजगारी दर को लेकर एक बार फिर से प्रदेश की गठबंधन सरकार की नीयत और नीतियों पर गंभीर सवाल उठाए हैं। शनिवार उन्होंने कहा कि सत्ता पक्ष के जो लोग आज रोजगार के बड़े-बड़े दावे और प्रचार करते हुए अग्निवीरों को नौकरी की गारंटी देते नहीं थक रहे उनकी गलत नीतियों ने हरियाणा में बेरोजगारों की नई फौज़ तैयार कर दी है।

उन्होंने कहा कि बेरोजगारी के मामले में हरियाणा लगातार कई महीने से देश भर में टॉप पॉजिशन पर बना हुआ है और सेंट्रल फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनॉमी के नवीनतम आंकडों में फिर से हरियाणा को 30.06 प्रतिशत बेरोजगारी दर के साथ नम्बर 1 पॉजिशन पर कायम रखा है जबकि देश में यह दर 7.8 फीसदी है। विधायक बलराज कुंडू ने कहा कि हरियाणा की इस बदहाल तस्वीर के लिये पूरी तरह भाजपा जजपा गठबंधन सरकार की गलत नीतियां जिम्मेदार हैं। साल 2022 के 6 महीने बीत चुके लेकिन अभी तक एक भी भर्ती नहीं निकालना सरकार की इन्हीं गलत नीतियों को उजागर कर रहा है।

उन्होंने सीएमआईई के नवीनतम आंकडों का हवाला देते हुए कहा कि 19 वर्ष की आयु में आज प्रदेश का प्रत्येक दूसरा युवक बेरोजगारी का शिकार है तो 20 से 24 साल की आयु वर्ग में 41 प्रतिशत बेरोजगारी दर है। यह ऐसी उम्र होती है जब किसी भी नौजवान को जॉब की लगन सबसे अधिक होती है लेकिन हालात देखकर लगता है कि वर्तमान सरकार किसी को रोजगार देना ही नहीं चाहती जबकि सरकार का यह नैतिक कर्तव्य होता है कि वह अपने प्रदेश की खुशहाली के लिए योजनाएं बनाए और रोजगार सृजन करते हुए युवाओं को अपने पैरों पर खडे होने में मदद करे।

हिन्दुस्थान समाचार/अनिल/संजीव


 rajesh pande