रोहतक: शहर में जलभराव पर पूर्व मंत्री ने अधिकारियों को लगाई फटकार
पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर बोले, अधिकारियों की लापरवाही से लोगों को जलभराव के कारण हुई परेशानी रोहतक,
रोहतक: शहर में जलभराव पर पूर्व मंत्री ने अधिकारियों को लगाई फटकार


पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर बोले, अधिकारियों की लापरवाही से लोगों को जलभराव के कारण हुई परेशानी

रोहतक, 2 जुलाई (हि.स.)। पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर ने शनिवार को शहर में बरसाती पानी से जलभराव क्षेत्रों का जायजा लिया और पब्लिक हेल्थ विभाग के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगाई। पूर्व मंत्री ने साफ कहा कि शहर में जलभराव की स्थिति जो पैदा हुई है, वह विभाग के अधिकारियों की लापरवाही के कारण हुई है और अधिकारी सरकार को बदनाम करने के लिए काम कर रहे है, जिसे किसी भी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि शहर की जनता को मूलभूत सुविधाएं देना सरकार की जिम्मेदारी है।

उन्होंने कहा कि वह स्वयं किसी पद पर नहीं है, लेकिन संगठन के चलते उनकी जिम्मेदारी बनती है कि लोगों को किसी भी प्रकार की कोई परेशानी न उठानी पड़े। सरकार के पास विकास कार्यो के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है। पूर्व मंत्री ने चंडीगढ़ से रोहतक पहुंची पब्लिक हेल्थ आला अधिकारियों के साथ डिस्पोजल पंपों का निरीक्षण किया। इस दौरान पूर्व मंत्री डिस्पोजल पंपों की हालत देखकर काफी नाराज हुए और मौके पर ही अधिकारियों को कड़ी फटकार तक लगा दी। उन्होंने लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ सख्त कारवाई के निर्देश भी दिए। दरअसल मानसून की पहली बरसात ने जहां जिला प्रशासन के बरसाती पानी की निकासी के तमाम दावों की पोल खोलकर रख दी, वहीं तीन दिन बीत जाने के बावजूद भी कई क्षेत्रों में जलभराव की स्थिति बनी हुई, जिससे लोगों में जिला प्रशासन व सरकार के प्रति काफी आक्रोश है।

पूर्व मंत्री ग्रोवर ने सबसे पहले कृष्णा कॉलोनी, गुरु नानक पुरा, महावीर कॉलोनी का मुआयना किया। पूर्व मंत्री ने निरीक्षण के दौरान अधिकारियों ने राहड़ तालाब क्षेत्र पर पब्लिक हेल्थ की 25 हजार 863 वर्ग गज जगह पर पानी निकासी के लिए बड़ा प्रोजेक्ट बनाने का फैसला लिया। तब तक के लिए जेसीबी की मशीन से तालाब की खुदाई करके लोगों को राहत देने के निर्देश दिए। चंडीगढ़ से पहुंचे चीफ इंजीनियर पूनिया ने अधिकारियों से विस्तृत रिपोर्ट तलब की और कहा कि इस तरह की लापरवाही कतई सहन नहीं होगी और जिन कर्मचारियों ने लापरवाही बरती है, उनके खिलाफ कड़ा एक्शन लिया जाएगा।

हिन्दुस्थान समाचार/अनिल/संजीव


 rajesh pande