नदियों के जलग्रहण क्षेत्र में बारिश के बाद गंडक समेत सभी नदियों का बढ़ा जलस्तर
मोतिहारी,29 जून(हि.स.)।जिले मे बहने वाली प्राय:सभी नदियों के जलग्रहण क्षेत्र नेपाल में हो रही लगातार
गंडक मे पानी का बढा डिस्चार्ज


मोतिहारी,29 जून(हि.स.)।जिले मे बहने वाली प्राय:सभी नदियों के जलग्रहण क्षेत्र नेपाल में हो रही लगातार बारिश के कारण इन नदियों के जल स्तर मे वृद्धि दर्ज की जा रही है।जिसमे सर्वाधिक वृद्धि गंडक नदी मे दर्ज की गई है। गत सोमवार को पश्चिमी चंपारण जिले के वाल्मीकिनगर बराज से गंडक नदी के डाउनस्ट्रीम में 97 हजार क्यूसेक व मंगलवार को 1 लाख 23 हजार 400 पानी डिस्चार्ज होने के बाद डुमरियाघाट मे गंडक मे पानी का 61.720 मीटर तक पहुंच गया है।जिस कारण संग्रामपुर अरेराज और केसरिया प्रखंड के निचले इलाको मे पानी भरने लगा है।

मौसम विभाग के अनुसार अगले तीन दिनो तक मध्यम व तेज वर्षापात के अनुमान के बाद गंडक नदी के जलस्तर में कमी आने की संभावना नहीं है।कमोबेश यही स्थिति बूढी गंडक,बागमती और लालबकेया नदी मे देखने को मिल रही है।जिला आपदा कंट्रोल रूम से मिली जानकारी के अनुसार बागमती गुआबारी मे 69.011मीटर पर बह रही है।जो विगत दिनो से 2 मीटर ज्यादा है।जबकि बूढी गंडक लालबेगिया में 56.460 मीटर तक बह रही है।वही लालकेया नदी फुलवरिया घाट मे 57.010 मीटर पर बह रही है।

बताया जा रहा है कि इन नदियों का जल स्तर अभी खतरे के निशान से नीचे है लेकिन आने वाले दिनो मे जिले मे हो रही है वर्षा के कारण मद्देनजर नदियो के जलस्तर मे वृद्धि हो सकती है। जिला आपदा समार्हत्ता अनिल कुमार और आपदा प्रभारी अमृता कुमारी ने बताया कि जिले के बाढ संभावित सभी अंचलो के अधिकारी नदियो की स्थिति पर नजर बनाये हुए है।सभी को बाढ के मद्देनजर सतर्क रहने को कहा गया है।वही जल निस्सरण व जल संसाधन विभाग के अभियंताओ को जिओ बैग को लेकर तैयार रहने को कहा गया है ताकि कटाव एवं तटबंधो की सुरक्षा मे किसी प्रकार की कमी ना हो।

हिन्दुस्थान समाचार/आनंद प्रकाश


 rajesh pande