सैंपल फेल होने पर लगाया डेढ लाख रुपये जुर्माना
हनुमानगढ़, 23 जून (हि.स.)। स्वास्थ्य विभाग की ओर से चार फर्मों से लिए गए खाद्य सामग्री के सैंपल जांच
सैंपल फेल होने पर लगाया डेढ लाख रुपये जुर्माना


हनुमानगढ़, 23 जून (हि.स.)। स्वास्थ्य विभाग की ओर से चार फर्मों से लिए गए खाद्य सामग्री के सैंपल जांच में सही नहीं पाए गए। इस पर अपर जिला मजिस्ट्रेट, हनुमानगढ़ ने चारों फर्मों पर 1.5 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। एक महीने में जुर्माना जमा नहीं कराने पर लाइसेंस रद्द करने की कार्रवाई की जाएगी।

सीएमएचओ डॉ. नवनीत शर्मा ने बताया कि खाद्य सुरक्षा अधिकारी जीतसिंह यादव एवं उनकी निरीक्षण टीम ने जिले में खाद्य सामग्री का निर्माण एवं विक्रय करने वाले संस्थानों पर नियमित निरीक्षण की कार्रवाई की थी। इस कार्रवाई के तहत 6 जनवरी 2021 को पीलीबंगा के लवली केक एण्ड स्वीट्स से पनीर, 15 फरवरी 2021 को अम्बे किराना स्टोर से केसरी ब्राण्ड की मसाला टी, 13 अक्टूबर 2020 को रावतसर के अशोक कुमार दूध विक्रेता से दूध एवं 26 जनवरी 2021 को हनुमानगढ़ की फर्म जीबीजी ग्रेन मिल्स प्राइवेट लि. से मैदा का सैम्पल लिया गया था। इन फर्मों से लिए सैम्पल बीकानेर और जयपुर में जांच के लिए भिजवाए गए थे। जांच ये सैम्पल अमानक पाए जाने पर न्याय निर्णयन अधिकारी एवं अपर जिला मजिस्ट्रेट, हनुमानगढ़ ने उक्त फर्मों पर 40 हजार, 40 हजार, 20 हजार एवं 50 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया। फर्मों को निर्देश दिए गए कि एक महीने में जुर्माना नहीं चुकाने पर फर्म का लाइसेंस निरस्त कर जुर्माना वसूली की कार्रवाई की जाएगी। डॉ. शर्मा ने बताया कि निरीक्षण की कार्रवाई लगातार जारी रहेगी।

हिन्दुस्थान समाचार/संजय/संदीप


 rajesh pande