पश्चिमी हवाओं से बढ़ा पारा, मानसूनी बारिश के नहीं है आसार
कानपुर, 23 जून (हि.स.)। प्री मानसून की सक्रियता के बीच पश्चिमी हवाओं से तापमान बढ़ गया। इसके साथ ही
पश्चिमी हवाओं से बढ़ा पारा, मानसूनी बारिश के नहीं है आसार


कानपुर, 23 जून (हि.स.)। प्री मानसून की सक्रियता के बीच पश्चिमी हवाओं से तापमान बढ़ गया। इसके साथ ही बंगाल की खाड़ी में समुद्री गतिविधियों से मानसून की रफ्तार धीमी हो गई। इससे आगामी पांच दिनों तक मानूसनी बारिश के आसार नहीं है। इन दिनों उमस भरी गर्मी लोगों को परेशान करती रहेगी।

चन्द्रशेखर आजाद कृषि प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डॉ एस एन सुनील पाण्डेय ने गुरुवार को बताया कि पश्चिमी विक्षोभ जम्मू-कश्मीर और आसपास के इलाकों पर बना हुआ है। प्रेरित चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तर पश्चिमी राजस्थान पर बना हुआ है। एक और चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र झारखंड और ओडिशा के आसपास के हिस्सों पर बना हुआ है। एक ट्रफ रेखा दक्षिण गुजरात तट से केरल तट तक फैली हुई है।

बताया कि कानपुर में अधिकतम तापमान 40 और न्यूनतम तापमान 26.8 डिग्री सेल्सियस रहा। सुबह की सापेक्षिक आर्द्रता 74 और दोपहर की सापेक्षिक आर्द्रता 45 प्रतिशत रही। हवाओं की दिशाएं उत्तर पश्चिम रही जिनकी औसत गति 3.1 किमी प्रति घंटा रही। आगामी पांच दिनों में हल्के से मध्यम बादल छाए रहने के साथ बारिश की कोई संभावना नहीं है। इस दौरान उमस भरी गर्मी बनी रहने की संभावना है।

हिन्दुस्थान समाचार/अजय


 rajesh pande