एलडीए की दृष्टि एप्प का अधिकारियों से लेकर आम नागरिक तक को इंतजार
लखनऊ, 23 जून(हि. स.)। लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) में न जाने कितनी योजनाएं बनीं और उसका नफा-नुकसान
lda logo


लखनऊ, 23 जून(हि. स.)। लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) में न जाने कितनी योजनाएं बनीं और उसका नफा-नुकसान भी सामने आया। आजकल एलडीए में दृष्टि एप्प पर काम चल रहा है। जिसका अधिकारियों से लेकर आम जनमानस तक को इंतजार है। वरिष्ठ अधिकारियों का मानना है कि जल्द ही दृष्टि एप्प सभी के बीच में होगा।

लखनऊ विकास प्राधिकरण की शहर के भीतर अवैध रूप से बनने वाले भवन बिना मानचित्र स्वीकृत कराए हुए बनने वाले अपार्टमेंट या आवासीय भवन पर होने वाली सील की कार्रवाई के बाद अक्सर सुनने में आता रहा है कि वहां कुछ निर्माण कार्य या किसी का निवास हो रहा है। ऐसे में एलडीए की कार्यवाही का कोई मतलब नहीं रह जाता।

एलडीए की कोर कमेटी जिसमें उपाध्यक्ष अक्षय त्रिपाठी, सचिव पवन गंगावारऔर कुछ अन्य महत्वपूर्ण अधिकारियों ने सोची-समझी योजना के तहत दृष्टि एप्प लाने की तैयारी कर ली है। दृष्टि एप्प सील किए हुए भवन को 24 घंटे निगरानी में रखेगा। सील की कार्यवाही को बाधित करने वाले की भी सूचना देगा।

एलडीए के सचिव पवन गंगवार बताते हैं कि इस एप्प के आ जाने के बाद बड़ी संख्या में प्राधिकरण के कर्मचारियों-अधिकारियों को राहत मिलेगी। ऐप से निगरानी करने से हर सूचना समय पर मिल जाया करेगी। इसके लिए कंप्यूटर विभाग के एक्सपोर्ट लोगों को लगाया गया है। हम भी चाहते हैं कि बहुत जल्द यह एप्प, जिसे दृष्टि एप्प नाम दिया गया है, हम लोगों के बीच आ जाए।

हिन्दुस्थान समाचार/ शरद


 rajesh pande