सूरज की रोशनी से जगमग होंगे किसान, लहलहाएगी फसल
- किसानों के लिए स्वर्णिम अवसर होगा कुसुम योजना, बनेंगे आत्मनिर्भर - सिंचाई की समस्या से मिलेगी निज
सूरज की रोशनी से जगमग होंगे किसान, लहलहाएगी फसल


- किसानों के लिए स्वर्णिम अवसर होगा कुसुम योजना, बनेंगे आत्मनिर्भर

- सिंचाई की समस्या से मिलेगी निजात, पर्यावरण संरक्षण को मिलेगा बढ़ावा

- पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर अनुदान पर मिलेगा सोलर पंप

मीरजापुर, 23 जून (हि.स.)। किसानों को अब फसलों की सिंचाई के लिए बिजली की राह नहीं देखनी पड़ेगी। महंगे डीजल और नहर की अनियमितता से प्रभावित सिंचाई से सोलर पंप निजात दिलाएगा। सोलर पंप से बिजली पर निर्भरता तो कम होगी ही, पर्यावरण संरक्षण को भी बढ़ावा मिलेगा। प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान (पीएम कुसुम) योजना किसानों के लिए स्वर्णिम अवसर होगा। अब किसान सोलर पंप से फसलों की सिंचाई कर सकेंगे।

ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने के साथ बिजली खर्च कम करने के उद्देश्य से सरकार किसानों को अनुदान पर सोलर पंप देगी। खेत में चमकते सोलर पैनल न केवल हरे-भरे खेत की सुंदरता बढ़ाएंगे बल्कि सौर ऊर्जा से बिजली की मांग को भी पूरा करेंगे। पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर प्रधानमंत्री कुसुम योजना के तहत अनुदान पर सोलर पंप मिलेगा। प्रधानमंत्री किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान (पीएम कुसुम) योजना के तहत खेती की लागत कम करने और किसान की आय बढ़ाने व पर्यावरण संरक्षण के लिए सौर ऊर्जा के प्रयोग को बढ़ावा दिया जा रहा है। बीते साल इस योजना का लाभ अधिक किसानों तक नहीं पहुंच सका था। इस बार लक्ष्य के अनुरूप किसान सोलर पंप स्थापित करें, इसके प्रयास किए जा रहे हैं।

उप निदेशक कृषि अशोक कुमार उपाध्याय ने कहा कि प्रयास किया जाएगा कि आवेदकों को सोलर पंप की स्थापना के लिए अनुदान मुहैया हो सके। 23 जून से सोलर पंप के लिए आवेदन किए जा सकेंगे। इस बार लक्ष्य के अनुरूप किसान सोलर पंप स्थापित करें, इसके प्रयास किए जा रहे हैं।

सोलर पंप का प्रकार व क्षमता सोलर पंप का निर्धारित मूल्य कुल अनुदान कृषक अंश

- 2 एचपीडीसी सर्फेस 144526 86716 57810

- 2 एचपीएसी सर्फेस 144526 86716 57810

- 2 एचपीडीसी सबमर्सिबल 147131 88278 58853

- 2 एचपीएसी सबमर्सिबल 147927 88756 59171

- 3 एचपीडीसी सबमर्सिबल 194516 116710 77806

- 3 एचपीएसी सबमर्सिबल 193460 116076 77384

- 5 एचपीएसी सबमर्सिबल 273137 163882 109255

- 7.5 एचपीएसी सबमर्सिबल 372126 223276 148850

- 10 एचपीएसी सबमर्सिबल 464304 278582 185722

पात्रता एवं शर्तें और आवेदन प्रक्रिया

- योजना का लाभ उठाने के लिए किसानों को विभागीय वेबसाइट www.upagriculture.gom पर पंजीकरण होना अनिवार्य है।

- किसानों की बुकिंग लक्ष्य की सीमा से 200 प्रतिशत तक पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर की जाएगी।

- अनुदान पर सोलर पंप के लिए विभागीय वेबसाइट www.upagriculture.gom पर आनलाइन बुकिंग करनी होगी।

- आनलाइन टोकन जनरेट करने के उपरांत किसान को कृषक अंश की धनराशि एक सप्ताह के अंदर राष्ट्रीयकृत बैंक में जमा करनी होगी अन्यथा किसान का चयन स्वत: निरस्त हो जाएगा।

- 2 एचपी के लिए चार इंच, पांच एचपी के लिए छह इंच, 7.5 व 10 एचपी के लिए आठ इंच की बोरिंग होना अनिवार्य है। बोरिंग किसान को स्वयं करानी होगी।

- 22 फीट तक की गहराई के लिए 2 एचपी सर्फेस, 50 फीट तक के लिए 2 एचपी सबमर्सिबल, 150 फीट तक के लिए 3 एचपी, 200 फीट तक के लिए 5 एचपी, 300 फीट तक की गहराई के लिए 7.5 एचपी व 10 एचपी के सोलर पंप उपयुक्त होते हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/ कमलेश्वर शरण


 rajesh pande