जॉर्ज बरदलै आत्महत्या मामले में एडीबीयू के वीसी फादर स्टीफन मावेली गिरफ्तार
गुवाहाटी, 24 मई (हि.स.)। जॉर्ज बरदलै आत्महत्या के मामले में सोनापुर के तेपेसिया स्थित असम डॉन बॉस्को
जॉर्ज बरदलै आत्महत्या मामले में एडीबीयू के वीसी फादर स्टीफन मावेली गिरफ्तार


गुवाहाटी, 24 मई (हि.स.)। जॉर्ज बरदलै आत्महत्या के मामले में सोनापुर के तेपेसिया स्थित असम डॉन बॉस्को विश्वविद्यालय के कुलपति फादर स्टीफन मावेली को सोनापुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी के बाद उन्हें मंगलवार को कामरूप (मेट्रो) जिला मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया। कोर्ट ने वीसी को एक दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। फायदर को बुधवार को फिर से कोर्ट में पेश किया जाएगा।

जाने-माने उद्यमी, अभिनेता और एक इको-कैंप के मालिक जॉर्ज बरदलै ने सोनापुर में सोमवार को आत्महत्या कर लिया था। बरदलै ने अपने सुसाइड नोट में फादर स्टीफन मावेली पर आत्महत्या करने के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है।

पुलिस ने सोमवार शाम करीब साढ़े चार बजे फादर मावेली को हिरासत में लिया और देर रात सोनापुर थाने में पूछताछ के बाद मेडिकल जांच के लिए जिला अस्पताल सोनपुर ले जाया गया। हालांकि, कुछ स्वास्थ्य समस्याओं के चलते उन्हें गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल (जीएमसीएच) में रेफर कर दिया गया था। मंगलवार को फादर मावेली को गिरफ्तार कर लिया गया।

मृत जॉर्ज बरदलै के बेटे पैट्रिक बरदलै ने अपने मृत पिता की दाह संस्कार की रस्में पूरी करने के बाद सोमवार की आधी रात को सोनापुर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई थी। दर्ज प्राथमिकी के आधार पर पुलिस ने फादर को गिरफ्तार कर लिया।

पैट्रिक ने वीसी पर उनके और उनके पिता के खिलाफ भूमि संबंधी एक मामले में झूठे और मनगढ़ंत आरोप लगाकर उनके पिता (जॉर्ज बोरदोलोई) को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का भी आरोप लगाया है।

पत्रकारों से बात करते हुए पैट्रिक ने कहा कि मेरे पिता ने वीसी से कहा था कि अगर वह उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित करना जारी रखते हैं, तो आत्महत्या करने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं होगा। उन्होंने एडीबीयू पर एलिफेंट कॉरिडोर को अवरुद्ध करने का आरोप लगाते हुए कहा कि रास्ता बंद होने के चलते जंगली हाथियों का झुंड अपने मूल रास्ते से भटककर रिहायसी क्षेत्र में बार-बार आते हैं और फसल और पेड़-पौधों को नुकसान पहुंचा रहे हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/असरार/ अरविंद


 rajesh pande