मई महीने से मंत्री परेश की बेटी अंकिता का वेतन बंद
कोलकाता, 24 मई (हि.स.)। गैरकानूनी तरीके से बिना परीक्षा दिए शिक्षक की नौकरी हासिल करने वाली शिक्षा र
मई महीने से मंत्री परेश की बेटी अंकिता का वेतन बंद


कोलकाता, 24 मई (हि.स.)। गैरकानूनी तरीके से बिना परीक्षा दिए शिक्षक की नौकरी हासिल करने वाली शिक्षा राज्य मंत्री परेश चंद्र अधिकारी की बेटी अंकिता अधिकारी का वेतन मई महीने से रोकने का निर्णय स्कूल शिक्षा विभाग ने लिया है। यह जानकारी कूचबिहार जिले के मेखलीगंज इंदिरा उच्च बालिका विद्यालय के प्रबंधन ने दी है जहां उन्हें शिक्षक के तौर पर नियुक्त किया गया था। मंगलवार को स्कूल संचालन समिति की बैठक हुई जिसमें यह निर्णय लिया गया है।

बताया गया है सोमवार को ही जिला स्कूल निरीक्षक दफ्तर से इस संबंध में आदेश स्कूल में पहुंच गए थे जिसके बाद मंगलवार को बैठक हुई है। स्कूल की प्रधान शिक्षिका रंजना राय बासुनिया ने कहा कि डीआई तरफ से हाईकोर्ट के निर्देश के मुताबिक वेतन बंद करने का आदेश स्कूल में पहुंचा है। इसमें हाई कोर्ट के अगले आदेश तक अंकिता का वेतन बंद रखने का निर्णय लिया गया है। उसी के मुताबिक आज मई महीने से उनका वेतन बंद रखने का निर्णय ले लिया गया है।

स्कूल संचालन समिति के सदस्य अमिताभ वर्धन चौधरी ने कहा कि हाईकोर्ट का निर्देश स्कूल में पहुंच चुका है। उसी के मुताबिक आज बैठक हुई है। आज संचालन समिति की बैठक में इस पर अमल करने का निर्णय लिया गया है।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2018 में शिक्षक के तौर पर नियुक्ति के बाद अंकिता अधिकारी ने 41 महीने का वेतन लिया है। हाईकोर्ट ने अंकिता को नौकरी से बर्खास्त करने के साथ ही सारा वेतन लौटाने का आदेश दिया है। उन्हें करीब 16 लाख रुपये वेतन के तौर पर दिए गए हैं जिसकी पहली किस्त सात जून को देने का आदेश हाईकोर्ट ने दिया है। पहली किस्त हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार के पास जमा कराई जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश/गंगा


 rajesh pande