Custom Heading

गेंहू अधिप्राप्ति में नहीं पकड़ रहा रफ्तार
बांका, 14 मई (हि.स.)।जिले में किसानों की गेहूं खरीद में रफ्तार नही पकड़ रही है।यहां के क्रय केंद्रों
गेंहू अधिप्राप्ति में नहीं पकड़ रहा रफ्तार


बांका, 14 मई (हि.स.)।जिले में किसानों की गेहूं खरीद में रफ्तार नही पकड़ रही है।यहां के क्रय केंद्रों पर गेहूं की खरीदारी स्थिर हो गयी है।यहां विगत 20 अप्रैल से ही गेहूं अधिप्राप्ति हो रही है।

विभाग से मिली जानकारी के अनुसार एक सप्ताह पहले 8.9 एमटी गेहूं की खरीद हुई थी. वही रिपोर्ट अभी भी बरकार बनी हुई है। ऐसे में विभाग को लक्ष्य प्राप्ति करना यहां चुनौती बनी हुई है।मालूम हो कि विभाग को 11000 एमटी गेहूं अधिप्राप्ति का लक्ष्य प्राप्त हुआ है. खरीदारी के लिए सहकारिता विभाग की अनुशंसा पर जिला प्रशासन ने 136 पैक्स व चार व्यापार मंडल को स्वीकृति दी है।लेकिन, गेहूं खरीद को जो स्थिति वर्तमान में नजर आ रही है उससे साफ लग रहा है कि लक्ष्य का 10 फीसद भी गेहूं खरीद पाना संभव नहीं दिख रहा है।

गेहूं अधिप्राप्ति में भाग लेने के लिए किसान ऑनलाइन आवेदन कर रहे हैं। अब तक 304 किसानों ने गेहूं बेचने के लिए निबंधन कराया है। जिसमें से रैयत किसान 71 व 233 गैर रैयत किसान शामिल है।पैक्स के लिए 280 व व्यापार मंडल के लिए 24 किसानों ने निबंधन कराया है।

कमोबेश यहां सभी सरकारी क्रय केंद्रों पर मायूसी छायी हुई है।चांदन प्रखंड के अलावा किसी भी प्रखंड में खरीदारी में दम नहीं दिखा पाया है. बताया जा रहा है कि गेहूं का मार्केट मंडी में अधिक है. रजौन, अमरपुर, पुनसिया के आगे मार्केट में खूब गेहूं का बाजार गर्म है। बताया जा रहा है कि गेहूं की जो दर सरकार ने निर्धारित किया और क्रय केंद्र से मिल रहे हैं।उससे कहीं अधिक कीमत बाजार या व्यापारी दे रहे हैं।

गेहूं के लिए प्रति क्विंट 2015 रुपया सरकार दर निर्धारित है।जबकि, बाजार में एक क्विंटल गेहूं की कीमत 2150-2200 आराम से मिल जाती है।

हिन्दुस्थान समाचार/मदन


 rajesh pande