Custom Heading

मुंडका अग्निकांड की हाईकोर्ट के सिटिंग जज से कराई जाए जांच : बिधूड़ी
नई दिल्ली, 14 मई (हि.स.)। दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने केजरीवाल सरकार से
मुंडका अग्निकांड की हाईकोर्ट के सिटिंग जज से कराई जाए जांच : बिधूड़ी


नई दिल्ली, 14 मई (हि.स.)। दिल्ली विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने केजरीवाल सरकार से मांग की है कि मुंडका अग्निकांड की हाईकोर्ट के सिटिंग जज की अध्यक्षता में जांच कराई जाए। उन्होंने कहा कि इस घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को दिल्ली सरकार को एक-एक करोड़ रुपये की मदद देनी चाहिए और परिवार के किसी एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी भी दी जानी चाहिए।

बिधूड़ी ने शनिवार को मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि मुंडका अग्निकांड में फायर ब्रिगेड की गाड़ी देरी से पहुंचने का मामला सामने आया है। इसकी जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बिल्डिंग के फायर क्लीयरेंस और अन्य नियमों के उल्लंघन की भी जांच होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि फायर ब्रिगेड के पास आग में फंसे लोगों को निकालने के लिए पर्याप्त हाईड्रोलिक क्रेन नहीं थीं। आखिर दिल्ली सरकार ने फायर ब्रिगेड को आधुनिक बनाने के लिए क्या कदम उठाए हैं? उन्होंने कहा कि क्या इस बिल्डिंग के पास फायर क्लीयरेंस था? अगर नहीं था तो फायर विभाग ने इस बिल्डिंग के खिलाफ क्या कार्रवाई की थी? क्या कोई नोटिस जारी किया था? इस बिल्डिंग में आने-जाने के लिए सिर्फ एक ही रास्ता था। आग लगने पर लोगों को निकालने का कोई रास्ता नहीं मिला। फायर विभाग ने इसके लिए क्या कोई कार्रवाई की थी?

बिधूड़ी ने कहा कि दो दमकलकर्मी भी इस घटना में मारे गए हैं और मृतकों की संख्या 30 मानी जा रही है लेकिन जो 29 लोग लापता हैं, उनके बारे में सरकार तुरंत स्पष्टीकरण दे। ऐसी दुखद घटनाएं दिल्ली के माथे पर कलंक हैं। यह हादसा उपहार कांड जैसा ही है और इससे साफ है कि उपहार कांड के बाद जो सिफारिशें की गई थीं उन पर अमल नहीं किया गया।

हिन्दुस्थान समाचार/आशुतोष


 rajesh pande