छात्रों में प्रतिभा,मंच प्रदान करने की जरूरत- घनश्याम शाही
पुरस्कार पाकर खिले हुनरबाजों के चेहरे छात्रों के समग्र विकास के लिए विश्वविद्यालय समर्पित- प्रो मुक
मंच पर मुख्य अतिथि,कुलपति व छात्र


मंच पर मुख्य अतिथि,कुलपति व छात्र


मंच पर मुख्य अतिथि,कुलपति व छात्र


मंच पर मुख्य अतिथि,कुलपति व छात्र


मंच पर मुख्य अतिथि,कुलपति व छात्र


पुरस्कार पाकर खिले हुनरबाजों के चेहरे

छात्रों के समग्र विकास के लिए विश्वविद्यालय समर्पित- प्रो मुकेश पाण्डेय

झांसी,30 नवंबर(हि. स.)। हर छात्र में कोई न कोई प्रतिभा छुपी रहती है। समय, प्रोत्साहन और मंच प्रदान करने से उसे साकार रूप दिया जा सकता है। उक्त विचार अभाविप के क्षेत्रीय संगठन मंत्री घनश्याम शाही ने व्यक्त किए। वे मुख्य अतिथि के रूप में अधिष्ठाता छात्र कल्याण बुंदेलखंड विश्वविद्यालय झांसी एवं राष्ट्रीय कला मंच अभाविप द्वारा आयोजित हुनरबाज प्रतिभा का मंच के समापन एवं पुरस्कार वितरण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

गांधी सभागार में छात्रों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा यह वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई की भूमि है। हमारी सभी छात्रा बहने विशेष रूप से किसी ना किसी हुनर में संपन्न है। राष्ट्रीय कला मंच ऐसी प्रतिभाओं को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए प्रयास कर रहा है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कुलपति प्रोफ़ेसर मुकेश पाण्डेय ने कहां की विश्वविद्यालय छात्रों के समग्र विकास के लिए प्रतिबद्ध है। विश्वविद्यालय शैक्षणिक के साथ ही व्यक्तित्व निर्माण एवं कला संवर्धन के केंद्र हैं। आज जिस प्रकार छात्रों ने मॉक इंटरव्यू ,न्यूज रीडिंग, हिंदी इंग्लिश टाइपिंग एवं भाषाई ज्ञान में अपनी श्रेष्ठता का प्रदर्शन किया है निश्चित ही उनका विश्वास बढ़ेगा। विशिष्ट अतिथि अभाविप प्रांत संगठन मंत्री अंशुल विद्यार्थी ने कहा कि जीवन में रोजगार का अपना महत्व है लेकिन केवल धन एकत्रित करना ही लक्ष्य नहीं होना चाहिए। 1 दिन में काम के 8 घंटे के अलावा अन्य समय हमें अपने रुचिकर कार्य करने चाहिए। हुनर ऐसे ही रुचियों को निखारने का प्रयास है।

इस अवसर पर कुलसचिव विनय कुमार सिंह ने कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए कहा कि छात्रों की सहभागिता देखते हुए लग रहा है कि छात्रों में यह कार्यक्रम अत्यधिक लोकप्रिय हुआ है। स्वागत कार्यक्रम संयोजक डॉ कौशल त्रिपाठी ने एवं आभार आयोजन सचिव डॉ शंभू नाथ सिंह ने दिया। संचालन रितिक पटेल ने किया। इस अवसर पर कला संकायाध्यक्ष प्रो मुन्ना तिवारी, प्रो डीके भट्ट, प्रो प्रतीक अग्रवाल, डॉ अनुपम व्यास, अकाश कुशवाहा, डॉ विनोद कुमार, डॉ जय सिंह, उमेश शुक्ला, अभिषेक कुमार, डॉ बृजेश परिहार, डॉ राजेश पांडे, डॉ संतोष पांडे, डॉ सुशील त्रिवेदी, डॉ शिप्रा वसिष्ठ, डॉ मनीषा जैन, डॉ अनिल बोहरे, डॉ अतुल खरे, प्रतिक द्विवेदी, शिवा राजा बुंदेला के साथ अनेक शिक्षक उपस्थित रहे।

हुनरबाज प्रतिभा मंच के विजेता

मॉक इंटरव्यू में लवली सेन, शिवांगी सुमन, यशकांत सुधेले, न्यूज रीडिंग में शिवांगी आर्या, प्रियंका लिधोरिया, अदिति यादव, एंकरिंग में प्रियंका लिधोरिया, मानसी मिश्रा, अजीत सिंह कोहली, काव्य पाठ में नमन कौशिक, समीक्षा, आशी सिंह, पीपीटी प्रेजेंटेशन में यस अग्रवाल, मुस्कान खान, अनुष्का अवस्थी, इंग्लिश टाइपिंग में पुष्पेंद्र सिंह, शिवम निगम, नितेश गुरनानी, हिंदी टाइपिंग में पुष्पेंद्र सिंह, जोया सिद्धकी, विशाखा भास्कर, हिंदी निबंध लेखन में खुशी रावत, अभिषेक गुप्ता, हर्ष सिंह, अंग्रेजी निबंध में सृष्टि तिवारी, स्नेहा याग्निक, आदित्य प्रताप सिंह, हिंदी डिक्टेशन में नमन कौशिक, दीपेश कुमार, ईशा सिंह, इंग्लिश डिक्टेशन में माधव कुमार मिश्रा, अलीशा अख्सर, सेव्या बाजपेई, इंग्लिश ट्रांसलेशन अंशिका राय, आस्था, रोशनी एल्बम हिंदी ट्रांसलेशन माधव कुमार मिश्रा सेव्या बाजपेई और अंशिका राय क्रमशः प्रथम द्वितीय एवं तृतीय रही।

हिन्दुस्थान समाचार/महेश