पाकिस्तानी अखबारों सेः आसिम मुनीर के सेनाध्यक्ष पद संभालने की खबर को मिली प्रमुखता
- विधानसभाओं को तोड़ने की हलचलों और बलूचिस्तान में सेना की कार्रवाई को भी महत्व - भारत में 01 दिसंबर
Asim Munir takes Charge


- विधानसभाओं को तोड़ने की हलचलों और बलूचिस्तान में सेना की कार्रवाई को भी महत्व

- भारत में 01 दिसंबर से डिजिटल करेंसी लांच किए जाने की घोषणा की सीमा पार भी चर्चा

नई दिल्ली, 30 नवंबर (हि.स.)। पाकिस्तान से बुधवार को प्रकाशित अधिकांश समाचारपत्रों ने जनरल आसिम मुनीर के 17वें सेनाध्यक्ष के तौर पर पदभार संभाले जाने की खबरें प्रमुखता से प्रकाशित की हैं। अखबारों ने प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की तरफ से जनरल का ओहदा संभालने पर उन्हें मुबारकबाद दिए जाने और नेक ख्वाहिशात व्यक्त करने की खबरें भी दी हैं।

अखबारों ने पाकिस्तान को एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक से 500 मिलियन डॉलर मिलने की खबरें भी दी हैं। वित्त मंत्री इसहाक डार ने कहा है कि इस पैसे को पाकिस्तान के विकास पर खर्च किया जाएगा। अखबारों ने प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ का एक बयान छापा है जिसमें उन्होंने कहा है कि मुश्किल फैसलों के लेने की वजह से देश के डिफाल्ट होने का खतरा खत्म हो गया है। उनका कहना है कि सरकार जल्द महंगाई पर कंट्रोल करने और आम आदमी को रिलीफ देने के लिए प्राथमिकता के आधार पर काम करेगी।

अखबारों ने सूचना प्रसारण मंत्री मरियम औरंगजेब का वह बयान प्रकाशित किया है, जिसमें उन्होंने क्रिकेट के लिए पाकिस्तान को सुरक्षित देश बताया है। उन्होंने दावा किया है कि इंग्लैंड टीम को बेहतरीन सुरक्षा उपलब्ध कराई जाएगी। उनका कहना है कि पाकिस्तान में क्रिकेट का जुनून है, दुनिया जानती है।

अखबारों ने राज्य विधानसभाओं के तोड़े जाने को लेकर जारी हलचल को भी जगह दी हैं। अखबारों ने बताया कि सरकार और तहरीक-ए-इंसाफ के जरिए अपने-अपने दावे किए जा रहे हैं और मुलाकातों का सिलसिला भी जारी है। अखबारों ने बताया कि इमरान खान ने अगले हफ्ते पंजाब और खैबरपख्तूनख्वा की विधानसभाओं को भंग करने की घोषणा की है।

अखबारों ने बलूचिस्तान में सेना की कार्रवाई में 10 आतंकवादियों के मारे जाने की खबरें दी है। इसमें एक आतंकवादी को जख्मी हालत में गिरफ्तार भी किया गया है। अखबारों ने पाकिस्तान और अफगानिस्तान में सुरक्षा और व्यापार पर बातचीत होने की खबरें देते हुए बताया है कि दोनों तरफ के लोगों की आवाजाही आसान करने पर सहमति बनी है। अखबारों ने बताया है कि पाकिस्तान की विदेश राज्य मंत्री हिना रब्बानी ने अफगानिस्तान के दौरे के दौरान अपने समकक्ष से मुलाकात की है।

अखबारों ने भारत में पहली दिसंबर से डिजिटल करेंसी लांच किए जाने की खबरें भी दी हैं। अखबारों ने बताया कि ई-रुपया नामक पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इसकी शुरुआत की जाएगी। अखबारों ने फिल्म द कश्मीर फाइल्स को बेहूदा और भ्रामक प्रचार वाली फिल्म करार दी जाने की खबरें भी दी हैं। यह सभी खबरें रोजनामा पाकिस्तान, रोजनामा नवाएवक्त, रोजनामा खबरें, रोजनामा दुनिया, रोजनामा एक्सप्रेस, रोजनामा जंग और रोजनामा औसाफ आदि के पहले पन्ने पर प्रकाशित की हैं।

रोजनामा नवाएवक्त ने भारत में मदरसा छात्रों के लिए स्कॉलरशिप खत्म करने की खबर प्रकाशित की है। मदरसों में शिक्षा प्राप्त करने वाले पहली से आठवीं कक्षा तक के छात्रों को 1000 रुपये महीना की स्कॉलरशिप दी जा रही थी। अखबार ने बताया है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने पहले ही मदरसों के छात्रों के लिए स्कॉलरशिप पर पाबंदी लगा दी है।

रोजनामा एक्सप्रेस ने जम्मू-कश्मीर में सेना की तरफ से कश्मीरी युवाओं के खिलाफ बड़े पैमाने पर क्रैकडाउन का दावा किया है। अखबार का कहना है कि ताजा मामले में जिला बारामुला में चार युवकों को गिरफ्तार किया गया है। अखबार में जिला सांबा में प्रशिक्षण के दौरान सेना के एक अधिकारी की रहस्यमय तौर पर मौत होने की भी खबर है। हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के चेयरमैन मसरत आलम ने जम्मू कश्मीर में कश्मीरियों पर बढ़ती हुई हिंसा पर चिंता व्यक्त करते हुए अंतरराष्ट्रीय बिरादरी से इसका नोटिस लेने की मांग की है।

हिन्दुस्थान समाचार/एम ओवैस