पंचकूला: काशी कॉरिडोर की तर्ज पर होगा माता मनसा देवी परिसर का जीर्णोद्धार
पंचकूला, 30 नवंबर (हि.स.)। असंख्य लोगों की आस्था के केंद्र माता मनसा देवी परिसर का जीर्णोद्धार काशी
विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने की श्राइन बोर्ड के साथ बैठक


पंचकूला, 30 नवंबर (हि.स.)। असंख्य लोगों की आस्था के केंद्र माता मनसा देवी परिसर का जीर्णोद्धार काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की तर्ज पर करने का खाका तैयार कर लिया गया है। इसकी तैयारियों के लिए विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने बुधवार को विस सचिवालय में माता मनसा देवी श्राइन बोर्ड के पदाधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की। बैठक में रुड़की स्थित सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीबीआरआई) के मुख्य वैज्ञानिकों ने परिसर के जीर्णोद्धार पर प्रस्तुति दी। सीबीआरआई ने केदारनाथ मंदिर, उज्जैन में महाकाल मंदिर इत्यादि अनेक बड़े धार्मिक परिसरों के जीर्णोद्धार का भी खाका तैयार किया था।

विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि माता मनसा देवी के प्रति आदि काल से करोड़ों लोगों की अगाध श्रद्धा है। वर्ष के दोनों नवरात्र के दौरान यहां लाखों श्रद्धालु दर्शन करने के लिए आते हैं। श्रद्धालुओं की आस्था के अनुरूप यहां का जीर्णोद्धार करना समय की आवश्यकता है। परिसर को भव्य बनाने के साथ-साथ यहां दर्शनार्थियों की सुविधा और पर्यावरण संरक्षण के लिए भी विशेष प्रयास किए जाने आवश्यक हैं।

सीबीआरआई के मुख्य वैज्ञानिक डॉ. अजय चौरसिया ने प्रस्तुति देते हुए बताया कि माता मनसा देवी के मुख्य मंदिर की ओर से जाने वाला वर्तमान कॉरिडोर टेडामेढ़ा होने के साथ-साथ इसकी सीढ़ियां भी असमान ऊंचाई वाली हैं। इसके साथ ही परिसर में बने दूसरे भवनों को भी व्यवस्थित कर इसे भव्य रूप प्रदान किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि मुख्य मंदिर के ठीक सामने से लंबा सीधा 14 फुट चौड़ा कॉरिडोर बनाया जाएगा। इस कॉरिडोर में 6 इंच की समान ऊंचाई वाली 9-9 सीढ़ियों के बाद चौंका बनेगा। कॉरिडोर से ठीक पहले तीन रास्तों वाला भव्य प्रवेश द्वार बनेगा। कॉरिडोर के बायीं ओर वीआईपी के लिए तथा दायीं ओर दिव्यांगों के लिए 7 फुट चौड़े रैंप होंगे। दोनों रैंप का प्रयोग कर श्रद्धालु लिफ्ट तक पहुंचेंगे। माता के मुख्य मंदिर के ठीक सामने बड़ा हॉल बनेगा, जहां श्रद्धालु दोनों वक्त माता की आरती में शामिल हो सकेंगे। नवरात्रों के दिनों में यह हॉल पंक्ति व्यवस्था बनाने के लिए प्रयोग किया जाएगा। माता वैष्णों देवी की तर्ज पर यहां वीवीआईपी भवन भी बनेगा।

पटियाला देवी मंदिर के पास विशाल हनुमान वाटिका बनेगी। यहां वरदहस्त मुद्रा में रामभक्त हनुमान की विशालकाय दक्षिणमुखी प्रतिमा विशेष आकर्षण का केंद्र रहेगी। बच्चों और युवा पीढ़ी को मंदिर से जोड़ने के लिए यहां एम्युजमेंट पार्क विकसित किया जाएगा। मुंडनघाट को भी आकर्षक बनाने का खाका तैयार किया गया है।

पूरे परिसर में पर्यावरण संरक्षण का विशेष ख्याल रखा जाएगा। माता मनसा देवी का बस स्टैंड मल्टी लेवल पार्किंग के पास बनेगा। यहां से मुख्य कॉरिडोर तक श्रद्धालुओं को लाने के लिए गोल्फ कार्ट प्रयोग में लाई जाएंगी। रोशनी की व्यवस्था के लिए अधिक से अधिक सौर ऊर्जा का प्रयोग होगा।

बैठक में माता मनसा देवी श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अशोक बंसल, सचिव शारदा प्रजापति, सदस्य श्याम लाल बंसल, विशाल सेठ, बंतो कटारिया, भाजपा जिला अध्यक्ष अजय शर्मा, एसडीओ राकेश पाहुजा, अमित जिंदल, नरेंद्र जैन, हरबंस लाल आदि मौजूद रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/ रमेश/संजीव