शेयर बाजार ने रचा इतिहास, सेंसेक्स पहली बार 63 हजार के पार
-बीएसई का सेंसेक्स 63,099.65 के स्तर पर हुआ बंद -एनएसई का निफ्टी 18,758.35 के स्तर पर बंद हुआ नई
शेयर बाजार के लोगो का फाइल फोटो 


-बीएसई का सेंसेक्स 63,099.65 के स्तर पर हुआ बंद

-एनएसई का निफ्टी 18,758.35 के स्तर पर बंद हुआ

नई दिल्ली, 30 नवंबर (हि.स)। भारतीय शेयर बाजार ने बुधवार को इतिहास रच दिया है। हफ्ते के तीसरे कारोबार दिन बुधवार को सेंसेक्स 63 हजार के पार पहुंच गया। कारोबार के दौरान सेंसेक्स 63303.01 के नए उच्चतम स्तर पर भी पहुंचा, जबकि एक दिन पहले ही सेंसेक्स ने 62,887.40 ऑल टाइम हाई का रिकॉर्ड बनाया था। निफ्टी ने भी नया ऑल टाइम हाई का रिकॉर्ड बनाया।

कारोबार के अंत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का सेंसेक्स 417.81 यानी 0.67 फीसदी उछलकर 63,099.65 के स्तर पर बंद हुआ। इसके साथ ही सेंसेक्स ने अपना नया क्लोजिंग हाई का रिकॉर्ड भी बनाया। बीएसई सेंसेक्स के 30 में से 23 शेयरों में तेजी देखने को मिली। इसके 7 शेयरों में गिरावट रही, जबकि महिंद्रा एंड महिंद्रा का शेयर सबसे ज्यादा 4 फीसदी उछला।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 140.30 अंक यानी 0.75 फीसदी बढ़कर 18,758.35 के स्तर पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान निफ्टी 18,816.05 के स्तर पर पहुंचा। यह निफ्टी का नया क्लोजिंग हाई का रिकॉर्ड भी है। कारोबार के दौरान निफ्टी के 50 शेयरों में से 49 शेयर हरे निशान में और एक शेयर बिना किसी बदलाव के बंद हुआ, जबकि महिंद्रा एंड महिंद्रा, हिंडाल्कों और ग्रासिम के शेयरों में भी तेजी रही। इससे एक दिन पहले ही निफ्टी ने 18,678.10 का ऑल टाइम हाई का रिकॉर्ड बनाया था।

उल्लेखनीय है कि साल 1986 में जब सेंसेक्स की शुरुआत हुई तो इसका बेस ईयर 1978-79 रखा गया, जबकि बेस 100 अंक बनाया गया था। इसके बाद जुलाई 1990 में ये आंकड़ा 1000 अंक पर पहुंच गया। साल 1991 के आर्थिक उदारीकरण के बाद सरकार ने प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) के दरवाजे खोले और कारोबार करने के कानून में बदलाव किया। इस बदलाव के बाद सेंसेक्स ने गति बढ़ाई, जो आज 63,099.65 के स्तर पर पहुंच गया।

हिन्दुस्थान समाचार/प्रजेश/सुनीत