भारतीय रेल स्वास्थ्य सेवा के ऑटोलरिंगोलॉजिस्ट्स संघ का 5वां वार्षिक अधिवेशन संपन्न
गुवाहाटी, 30 नवंबर (हि.स.)। भारतीय रेल स्वास्थ्य सेवा शाखा के ऑटोलरिंगोलॉजिस्ट्स (कान, नाक और गला रो
NFR


गुवाहाटी, 30 नवंबर (हि.स.)। भारतीय रेल स्वास्थ्य सेवा शाखा के ऑटोलरिंगोलॉजिस्ट्स (कान, नाक और गला रोगों के विशेषज्ञ) संघ का 5वां वार्षिक अधिवेशन संपन्न हो गया।

पूर्वोत्तर सीमा रेल (पूसीरे) के गुवाहाटी स्थित मालीगांव केंद्रीय अस्पताल में 26 से 27 नवंबर तक आयोजित अधिवेशन की अध्यक्षता रेलवे स्वास्थ्य सेवा के महानिदेशक डॉ. प्रसन्न कुमार ने की। पूसीरे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सब्यसाची डे ने बुधवार को बताया कि एक लाइव सर्जिकल वर्कशॉप का आयोजन किया गया, जिसमें अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त सर्जनों ने भाग लिया। विभिन्न सर्जरी को लाइव दिखाया गया, जैसे थायराइडेक्टॉमी (थायराइड ग्रंथि से संबंधित सर्जरी), कॉब्लेशन एडेनॉयडक्टॉमी (एडेनॉयड से संबंधित सर्जरी), टायम्पेनोमैस्टॉइडक्टॉमी (कान में संक्रमण से संबंधित सर्जरी) आदि। डॉ. एके मल्होत्रा, पीईडी, बीएएम अस्पताल/सेंट्रल रेलवे/मुंबई से डॉ. डी डालमिया, जीआरएच अस्पताल/साउथ ईस्टर्न रेलवे/कोलकाता से डॉ. केपी वर्मा और घोष ईएनटी फाउंडेशन, कोलकाता के एमडी डॉ. तुषार कांति घोष इत्यादि सर्जिकल फैकॉल्टी मौजूद थे।

गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज, फखरुद्दीन अली अहमद मेडिकल कॉलेज और अस्पताल, बरपेटा, डॉ. बी बरूवा कैंसर संस्थान, नॉर्थईस्ट कैंसर अस्पताल और अनुसंधान संस्थान, स्वागत अस्पताल, संजीवनी अस्पताल, नाइटिंगेल अस्पताल, प्रतीक्षा अस्पताल, गुवाहाटी, मैक्स अस्पताल, दिल्ली, वेंकटेश्वर अस्पताल, दिल्ली से राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वक्ताओं और भारतीय रेल के विभिन्न जोन से आये ईएनटी विशेषज्ञों ने भी ईएनटी के क्षेत्र से विभिन्न विषयों पर अपनी बात रखी। रेलवे एसोसिएशन ऑफ ऑटोलरिंगोलॉजिस्ट्स कॉन्फ्रेंस (आरएओआईकॉन), 2022 को सफल आयोजन बनाने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों के प्रतिनिधियों ने इसमें सक्रिय भागीदारी की।

प्रतिनिधियों के लिए एक स्मॉल कलचरल नाइट का भी आयोजन किया गया, जिसमें पूर्वोत्तर भारत के समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की झलक दिखाने के लिए स्थानीय नृत्य और संगीत प्रस्तुत किया गया।

हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद