बेगूसराय में अवैध रूप से संचालित कई अल्ट्रासाउंड सेंटर का खुलासा
बेगूसराय, 30 नवम्बर (हि.स.)। बेगूसराय में अवैध रूप से संचालित किए जा रहे अल्ट्रासाउंड सेंटर एवं सरका
जांच


जांच


जांच


बेगूसराय, 30 नवम्बर (हि.स.)। बेगूसराय में अवैध रूप से संचालित किए जा रहे अल्ट्रासाउंड सेंटर एवं सरकारी अस्पताल में कार्यरत चिकित्सक द्वारा निजी अस्पताल चलाने का बड़ा खुलासा हुआ है।

डीएम रोशन कुशवाहा के निर्देश पर सिविल सर्जन डॉ. प्रमोद कुमार सिंह के नेतृत्व में मंसूरचक प्रखंड के एक अवैध अल्ट्रासाउंड केंद्र पर छापेमारी के दौरान दो अल्ट्रासाउंड मशीन उपलब्ध पाए जाने के साथ ही केंद्र संचालक पंकज रजक एवं एक अन्य व्यक्ति उपस्थित पाए गए।

छापेमारी के दौरान निबंधन के लिए एक पंजी एवं लैपटॉप भी पाया गया, जिसे जब्त कर मुख्यालय लाया गया। सिविल सर्जन ने बताया कि केंद्र पर उपलब्ध दस्तावेज के मुताबिक संबंधित केंद्र का निबंधन सिविल सर्जन के स्तर से नहीं किया गया है, इसलिए केंद्र को सील कर अग्रेत्तर कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने केंद्र द्वारा भ्रूण लिंग परीक्षण की संभावना भी व्यक्त की है।

इसी प्रकार सदर प्रखंड विकास पदाधिकारी सुदामा प्रसाद सिंह के नेतृत्व में आज सदर प्रखंड के चांदपुरा में अवैध रूप से संचालित युवराज अल्ट्रासाउंड सेंटर पर छापेमारी कर सील की गई। छापेमारी के दौरान केंद्र पर अल्ट्रासाउंड कक्ष बंद पाया गया तथा संबंधित चिकित्सक एवं अन्य भी फरार पाए गए। सूचना मिली है कि आशा कार्यकर्ता के द्वारा यहां मरीजों को लाया जाता है, जिसके संबंध में अग्रेतर कार्रवाई की जाएगी।

नावकोठी पीएचसी के सामने आंख जांच केंद्र का बोर्ड लगा कर अंदर में गर्भवती महिलाओं की जांच और ऑपरेशन का खुलासा हुआ है। डीएम के निर्देश पर बखरी एसडीओ के मार्गदर्शन में नावकोठी के प्रखंड विकास पदाधिकारी चिरंजीवी पांडेय के नेतृत्व में नावकोठी पीएचसी के सामने सुपर आई सेन्टर केअर आंख जांच नामक केंद्र में अवैध रूप से संचालित अल्ट्रासाउंड मशीन संचालन केंद्र पर छापेमारी की गई तथा अवैध कार्यों में संलिप्त केंद्र को सील करते हुए प्राथमिकी दर्ज कराने की प्रक्रिया की जा रही है।

नावकोठी के प्रखंड विकास पदाधिकारी ने बताया गया कि छापेमारी के दौरान में केंद्र पर कार्यरत कर्मी विरेन्द्र कुमार द्वारा बताया गया कि यह जांच केंद्र अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र देवपुरा में पदस्थापित डॉ. प्रेमचंद्र कुमार द्वारा संचालित की जा रही है। जांच केंद्र के अंदर अल्ट्रासाउंड मशीन, मॉनीटर, प्रिंटर आदि सामग्री मिला है। जांच केंद्र को सील कर नावकोठी थानाध्यक्ष को चाभी सौंप दी गई है। जांच दल में चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. राजीव रंजन चौधरी एवं थाना के पुअनि सुरेंद्र टुड्डु शामिल थे।

हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र