सलमान रुश्दी के अनीस विला पर कब्जे को लेकर दो पार्टियों में छिडी जंग
सोलन, 24 नवंबर ( हि.स.)। सैटनिक वर्सिस किताब से चर्चा में आए मशहूर लेखक सलमान रुश्दी के सोलन स्थित
Solan : Salman Rushdie's Property ownership


Solan : Salman Rushdie's Property ownership


Solan : Salman Rushdie's Property ownership


Solan : Salman Rushdie's Property ownership


सोलन, 24 नवंबर ( हि.स.)। सैटनिक वर्सिस किताब से चर्चा में आए मशहूर लेखक सलमान रुश्दी के सोलन स्थित पुश्तैनी मकान का कब्जा लेने के लिए दो लोग खड़े हो गए हैं। बुधवार की देर शाम दिल्ली से आए कुछ लोगों ने मकान के केयर टेकर गोविंद का सामान बाहर फेंक दिया। यह मामला काफी तूल पकड़ गया है और पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

सलमान रुश्दी पिछले करीब 20 वर्षों से अपने पुश्तैनी मकान अनीस विला में नहीं आये हैं। उन्होंने मकान की देखरेख के लिए गोविंद नामक व्यक्ति को रखा था। वहीं दिल्ली से आए 23 नवंबर को अनीस विला में रानी शंकर दास व उनके पुत्र अनिरुद्ध शंकरदास जो कि अहमद सलमान रुश्दी के पारिवारिक मित्र हैं, ने मकान का कब्जा लेने के लिए यहां काफी हंगामा किया। उन्होंने कहा कि केयर टेकर गोविंद ने पूरे मकान पर कब्जा कर लिया है जबकि उन्हें केवल दो ही कमरे रहने के लिए दिए गए थे। इस पर गोविंद के खिलाफ तोड़फोड़ करने का भी मामला दर्ज करवाया गया है।

केयर टेकर गोविंद की ओर से उनके वकील का कहना है कि यह मामला कोर्ट में है और इस पर कोर्ट ने स्टे दिया है।

मकान के केयर टेकर गोविंद का कहना है कि वे पिछले 25 साल से इस मकान की देखभाल कर रहे हैं। सलमान रुश्दी और उनके मित्र विजय शंकर ने उनसे प्रॉपर्टी की देखभाल के लिए सैलरी और अन्य खर्चा देने की बात की थी। वर्ष 2012 तक सब ठीक चलता रहा, लेकिन उसके बाद कोई पैसा उन्हें नहीं दिया गया है । जबकि वर्ष 2018 के बाद तो उनकी कोई खबर नहीं ली गई और एक पैसा भी उन्हें नही मिला है । बकौल गोविंद अब कुछ लोग उन्हें यहां से निकाल रहे हैं।

उनका कहना है कि वह इस संपत्ति को असली मालिक को ही सौंपेंगे । क्योंकि उनका लंबा हिसाब-किताब है। उनके वकील विक्रांत चौहान ने कहा कि इस मामले में कोर्ट से स्टे मिला है, लेकिन दूसरा पक्ष इसे मानने को तैयार नहीं। बीते 8 अक्टूबर को कुछ लोग यहां आए और गोविंद का सामान बाहर फेंकने लगे। इस पर कोर्ट में याचिका दायर की गई और वहां से मामले पर स्टे दिया गया है। उन्होंने कहा कि अब वे कोर्ट के आदेशों की अवहेलना का केस करेंगे।

दूसरी ओर राजेश त्रिपाठी ने सोलन में 24 नवंबर को पुलिस में मामला दर्ज कराया है कि वह अहमद सलमान रश्दी की प्रॉपर्टी अनीस विला, फॉरेस्ट रोड सोलन की देखभाल करता है ।

इस मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सोलन अजय कुमार राणा ने कहा कि पुलिस थाना सदर में एक व्यक्ति की शिकायत पर अनीस विला में कुछ लोगों के तोड़फोड़ करने की शिकायत का मामला दर्ज करवाया है। मामले की जांच में पुलिस जुटी बताई गई है ।

अनीस विला के इतिहास पर नजर दौड़ाई जाए तो वर्ष 1927 में इसका निर्माण करवाया गया था । जिसे सलमान रुश्दी के दादा ने खरीदा था। उन्होंने इस संपत्ति को सलमान रुश्दी के नाम कर दिया था ।

वेज अनीस अहमद के नाम होने के कारण सरकार ने 1953 से 1969 इस संपत्ति को ये कह कर अनाम घोषित कर दिया था कि इसके मालिक पाकिस्तान चले गए हैं। इसके बाद इस भवन पर कभी हिमाचल प्रदेश के शिक्षा विभाग का तो कभी सरकारी अफसरों का कब्जा रहा। जैसे ही इस बात की जानकारी सलमा रुश्दी को लगी तो उन्होंने अपनी संपत्ति को वापिस लेने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ी ।

सलमान रुश्दी ने 2,934 वर्गमीटर में बने अनीस विला को 5 साल की लंबी कानूनी लड़ाई लड़कर वर्ष 1997 में वापस हासिल किया था।

हिन्दुस्थान समाचार / संदीप/सुनील


 rajesh pande