राज्यपाल के पहुंचने से पूर्व नजरबंद किए गए मजदूर नेता अजय सिंह
कानपुर, 24 नवम्बर (हि.स.)। शहर में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के आने से पूर्व गुरुवार को बकाए वेतन और अन
राज्यपाल के पहुंचने से पूर्व नजरबंद किए मजदूर नेता अजय सिंह


कानपुर, 24 नवम्बर (हि.स.)। शहर में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के आने से पूर्व गुरुवार को बकाए वेतन और अन्य मांगों के लिए आंदोलित लाल इमली कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अजय सिंह को नजरबंद कर दिया गया। पुलिस को आशंका थी कि बीआईसी कर्मी विरोध-प्रदर्शन करने के लिए न पहुंच जाए। पुलिस ने बुधवार रात कर्मचारी नेता को घर में ही कैद कर दिया गया।

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल गुरुवार को एचबीटीयू के दीक्षान्त समारोह में शामिल होने के लिए पहुंची थी। उनके शहर पहुंचने से पहले ही पुलिस ने लाल इमली कर्मचारी संघ के अध्यक्ष अजय सिंह को उनके शास्त्री नगर स्थित आवास पर ही नजर बंद कर दिया गया। बुधवार रात कर्मचारी नेता के घर दर्जनों पुलिसकर्मी पहुंचे और उनके घर के चारों तरफ से नाकेबंदी कर दी। साथ ही उनके घर से बाहर निकलने पर पाबन्दी लगा दी। घर के बाहर उपनिरीक्षक और आरक्षी तैनात कर दिए गए। बताया गया कि जब तक राज्यपाल शहर में हैं, वह घर के बाहर नहीं जा सकते। पुलिस की इस कार्रवाई से लाल इमली कर्मियों में काफी आक्रोश व्याप्त हो गया।

मजदूर नेता अजय सिंह ने बताया कि लाल इमली कर्मियों को 42 महीने से वेतन नहीं दिया गया है। सरकार और प्रशासन को इसकी चिंता करनी चाहिए लेकिन वेतन दिलाने के बजाय उन्हें घर में कैद कर दिया गया जो मजदूरों के साथ अन्याय किया गया। वर्ष 2017 के बाद से सेवानिवृत्त कर्मचारियों का हिसाब नहीं होने सहित लंबित मांगों को लेकर कर्मचारी आन्दोलनरत है।

हिन्दुस्थान समाचार/राम बहादुर


 rajesh pande