गोवा सरकार राज्य के विकास का नया खाका लेकर आई है : प्रधानमंत्री मोदी
नई दिल्ली, 24 नवंबर (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि गोवा सरकार राज्य के विक
गोवा रोजगार मेला


नई दिल्ली, 24 नवंबर (हि.स.)। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि गोवा सरकार राज्य के विकास का नया खाका लेकर आई है। उन्होंने कहा कि ‘स्वयंपूर्ण गोवा’ का विजन राज्य में बुनियादी सुविधाओं को बेहतर बनाना है।

प्रधानमंत्री वीडियो संदेश के माध्यम से गोवा सरकार के रोजगार मेले को संबोधित कर रहे थे। रोजगार मेले में नियुक्ति पत्र प्राप्त करने वाले युवाओं को बधाई देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि रोजगार सृजन में गोवा सरकार ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि आने वाले महीनों में गोवा पुलिस सहित अन्य विभागों में और भर्तियां होने वाली हैं। उन्होंने कहा कि इससे गोवा पुलिस बल को मजबूत मिलेगी और इसके परिणामस्वरूप नागरिकों और विशेषकर पर्यटकों के लिए सुरक्षा प्रणाली में वृद्धि होगी।

युवाओं से देश के विकास के लिए काम करने का आग्रह करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, “आज जिन युवाओं को नियुक्ति पत्र मिले हैं, उनके सामने गोवा के विकास के साथ-साथ वर्ष 2047 के न्यू इंडिया का भी लक्ष्य है। आपको गोवा के विकास के लिए भी काम करना है और देश के विकास के लिए भी काम करना है।” उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि आप सभी पूरी निष्ठा और तत्परता के साथ अपने कर्तव्य पथ का पालन करना जारी रखेंगे।

मोदी ने कहा, “पिछले कुछ हफ्तों से देश के विभिन्न राज्यों में लगातार रोजगार मेले आयोजित किए जा रहे हैं, जबकि केंद्र सरकार भी हजारों युवाओं को रोजगार दे रही है।” प्रधानमंत्री ने युवाओं के सशक्तिकरण के लिए अपने स्तर पर इस तरह के रोजगार मेले आयोजित करने के लिए डबल इंजन सरकारों द्वारा शासित राज्यों के प्रयासों पर प्रसन्नता व्यक्त की।

प्रधानमंत्री ने रेखांकित किया कि पिछले 8 वर्षों में केंद्र सरकार ने गोवा के विकास में हजारों करोड़ रुपये का निवेश किया है। लगभग 3000 करोड़ रुपये की लागत से मोपा में बनने वाले हवाई अड्डे का जल्द ही उद्घाटन होने वाला है। प्रधानमंत्री ने कहा कि हवाई अड्डा निर्माण गोवा के हजारों लोगों को रोजगार का एक प्रमुख स्रोत बन गया है। उन्होंने कहा कि कनेक्टिविटी और राज्य में चल रही बुनियादी ढांचा परियोजनाओं से भी रोजगार सृजन हो रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि ‘स्वयंपूर्ण गोवा’ का दृष्टिकोण राज्य में बुनियादी सुविधाओं को बेहतर बनाने के साथ-साथ राज्य में बुनियादी सुविधाओं को उन्नत बना रहा है। गोवा पर्यटन मास्टर प्लान और नीति का उल्लेख करते हुए, प्रधानमंत्री ने बताया कि राज्य सरकार ने गोवा के विकास का नया खाका तैयार कर लिया है, जिससे पर्यटन क्षेत्र में निवेश की नई संभावनाएं खोली हैं और जिससे बड़ी संख्या में रोजगार को बढ़ावा मिला है। गोवा के ग्रामीण क्षेत्रों को आर्थिक मजबूती देने के लिए पारंपरिक खेती में रोजगार बढ़ाने के लिए उठाए जा रहे कदमों का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने बताया कि धान, फल प्रसंस्करण, नारियल, जूट और मसालों का उत्पादन करने वाले किसानों को स्वयं सहायता समूहों से जोड़ा जा रहा है। उन्होंने कहा कि इन प्रयासों से गोवा में रोजगार और स्वरोजगार के कई नए अवसर पैदा हो रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री ने धनतेरस पर केंद्रीय स्तर पर रोजगार मेले की अवधारणा की शुरुआत की थी। यह केंद्र सरकार के स्तर पर 10 लाख नौकरियां देने के अभियान की शुरुआत थी। तब से, प्रधानमंत्री ने गुजरात, जम्मू-कश्मीर और महाराष्ट्र सरकारों के रोज़गार मेलों को संबोधित किया है और विभिन्न सरकारी विभागों में सभी नए नियुक्तियों के लिए ऑनलाइन अभिविन्यास पाठ्यक्रमों के लिए एक कर्मयोगी प्रारंभ मॉड्यूल भी लॉन्च किया, जबकि एक दिन पहले नवनियुक्त भर्तियों को करीब 71 हजार नियुक्ति पत्र वितरित किए गए।

हिन्दुस्थान समाचार/सुशील


 rajesh pande