निवेशकों को एक दिन में हुआ 2.26 लाख करोड़ रुपये का मुनाफा
नई दिल्ली, 24 नवंबर (हि.स.)। वैश्विक सपोर्ट के कारण भारतीय शेयर बाजार आज लगातार तीसरे दिन मजबूती के
निवेशकों को एक दिन में हुआ 2.26 लाख करोड़ रुपये का मुनाफा


नई दिल्ली, 24 नवंबर (हि.स.)। वैश्विक सपोर्ट के कारण भारतीय शेयर बाजार आज लगातार तीसरे दिन मजबूती के साथ बंद होने में सफल रहे। आज की तेजी की वजह से सेंसेक्स जहां ऑल टाइम हाई का नया रिकॉर्ड बनाने में सफल रहा, वहीं निफ्टी भी अपने ऑल टाइम हाई के रिकॉर्ड के काफी करीब पहुंच गया। सेंसेक्स और निफ्टी में आई इस तेजी के कारण शेयर बाजार के निवेशकों की संपत्ति में सिर्फ 1 दिन के कारोबार में ही 2.26 लाख करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हो गई।

स्टॉक एक्सचेंज के आंकड़ों के अनुसार आज दिनभर के कारोबार के बाद बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में लिस्टेड कंपनियों का कुल बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैपिटलाइजेशन) बढ़कर 283.70 लाख करोड़ रुपये के स्तर को पार कर गया। जबकि 1 दिन पहले बुधवार के कारोबार के बाद लिस्टेड कंपनियों का कुल बाजार पूंजीकरण का आंकड़ा 281.44 लाख करोड़ रुपये था। इस तरह बीएसई में लिस्टेड कंपनियों के निवेशकों की पूंजी में एक दिन में ही 2.26 लाख करोड़ रुपये से अधिक की बढ़ोतरी हो गई।

शेयर बाजार के जानकारों का मानना है कि अमेरिकी फेडरल रिजर्व (यूएस फेड) की ओर से आने वाले दिनों में ब्याज दरों में तुलनात्मक तौर पर कम वृद्धि करने और आगे चलकर ब्याज दरों में बढ़ोतरी पर रोक लगाने का संकेत मिलने की वजह से वैश्विक स्तर पर बाजारों में पॉजिटिव सेंटीमेंट्स बने हैं। इसी वजह से पिछले कारोबारी सत्र में अमेरिकी और यूरोपीय बाजार भी मजबूती के साथ कारोबार कर के बंद हुए थे। जबकि ज्यादातर एशियाई बाजारों में भी आज तेजी बनी रही। इसके साथ ही डॉलर इंडेक्स में आई नरमी और अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत में आई गिरावट से भी शेयर बाजार को काफी सहारा मिला है।

मार्केट एक्सपर्ट्स का कहना है कि डॉलर इंडेक्स में आई नरमी के कारण भारतीय मुद्रा रुपये समय दुनियाभर की अधिकांश मुद्राओं को काफी राहत मिला है। इस वजह से ज्यादातर देशों की अर्थव्यवस्था पर लगातार बढ़ रहे दबाव में कमी आई है। इसके साथ ही रूस के तेल कुओं से निकलने वाले कच्चे तेल की कीमत पर कैप लगाए जाने की खबर, अमेरिका में कच्चे तेल का भंडार बढ़ने की खबर और चीन में कोरोना संकट की वजह से कच्चे तेल में कमी आने की आशंका के कारण आज अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत में गिरावट का रुख बना है। इस वजह से भी वैश्विक स्तर पर शेयर बाजारों को बूस्ट मिला है। यही वजह है कि आज सिर्फ 1 दिन के कारोबार में ही घरेलू शेयर बाजार के कारोबार में इतनी तेजी आई कि निवेशकों की संपत्ति में 2.26 लाख करोड़ रुपये का इजाफा हो गया।

हिन्दुस्थान समाचार/ योगिता


 rajesh pande