शिक्षा और स्वास्थ्य सरकार की प्राथमिकता: मुख्यमंत्री
सवाईमाधोपुर/जयपुर, 24 नवंबर (हि.स.)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश में संचालित जनकल्याणकार
सवाईमाधोपुर में 61 करोड़ रुपये के विकास कार्यों के शिलान्यास और लोकार्पण समारोह


सवाईमाधोपुर में 61 करोड़ रुपये के विकास कार्यों के शिलान्यास और लोकार्पण समारोह


सवाईमाधोपुर/जयपुर, 24 नवंबर (हि.स.)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश में संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं की आज पूरे देश में चर्चा है। महंगाई और बेरोजगारी के इस दौर में आमजन को अधिकतम राहत पहुंचाने के लिए राज्य सरकार कृत-संकल्पित होकर कार्य कर रही है। शिक्षा और स्वास्थ्य राज्य सरकार की प्राथमिकता हैं। हर क्षेत्र में राज्य सरकार द्वारा आमजन के लिए योजनाएं प्रभावी रूप से संचालित की जा रही हैं।

गहलोत गुरुवार को सवाईमाधोपुर में 61 करोड़ रुपये के विकास कार्यों के शिलान्यास और लोकार्पण समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने गंगापुर सिटी में लगभग 39 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले जिला अस्पताल का भूमि पूजन किया। साथ ही, उन्होंने 20 करोड़ रुपये की लागत के स्टेट हाई-वे का शिलान्यास और महात्मा ज्योतिबा फुले की मूर्ति का अनावरण भी किया।

गहलोत ने कहा कि केन्द्र सरकार को जल्द से जल्द पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना (ई.आर.सी.पी.) को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देना चाहिए। इस परियोजना के बनने से राजस्थान के एक बड़े क्षेत्र में पेयजल और सिंचाई जल की उपलब्धता सुनिश्चित हो सकेगी। प्रधानमंत्री स्वयं जयपुर और अजमेर की सभाओं में ई.आर.सी.पी. को राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा देने का समर्थन कर चुके हैं। ई.आर.सी.पी. बनने से ही राज्य के विस्तृत क्षेत्रफल में हर घर नल पहुंचाने के लिए पेयजल स्रोत उपलब्ध हो सकेंगे। ई.आर.सी.पी. के माध्यम से राज्य के सीमित सतही जल संसाधनों का पूरा उपयोग हो सकेगा और राज्य के जल को व्यर्थ बहने से रोका जा सकेगा। राष्ट्रीय परियोजना का दर्जा ना मिलने तक राज्य सरकार अपने सीमित संसाधनों से ई.आर.सी.पी. का निर्माण करने के लिए प्रतिबद्ध है। इसी क्रम में 9500 करोड़ का प्रावधान ई.आर.सी.पी. के लिए किया जा चुका है। केन्द्रीय सहयोग से ही योजना का निर्माण समयबद्ध तरीके से हो सकेगा तथा रिफाइनरी की तरह इसकी लागत में अप्रत्याशित वृद्धि होने की स्थिति से बचा जा सकेगा। उन्होंने कहा कि गंगापुर सिटी के आस-पास के क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए पक्की पाइप लाइन बिछाई जा रही है। इसके पूरे होने तक वैकल्पिक समाधान के रूप में अधिकारियों को टैंकर से पानी पहुंचाने के लिए निर्देशित किया गया है।

चिकित्सा मंत्री परसादी लाल मीणा ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राजस्थान आज स्वास्थ्य के क्षेत्र में मॉडल स्टेट बनकर उभरा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की सरकार हर जिले में मेडिकल एवं नर्सिंग कॉलेज खोलकर चिकित्सा शिक्षा को बढ़ावा देने का कार्य कर रही हैं। मुख्यमंत्री सलाहकार एवं गंगापुर सिटी विधायक रामकेश मीणा ने मुख्यमंत्री का गंगापुर सिटी में 200 बेड के जिला चिकित्सालय सहित अन्य विकास कार्यों के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद ज्ञापित किया।

हिन्दुस्थान समाचार/संदीप


 rajesh pande