धमतरी : गिल्ली-भांवरा के अविष्कारक नहीं हैं भूपेश बघेल : डाॅ. रमन सिंह
धमतरी, 24 नवंबर (हि.स.)। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को यह नहीं मालूम है कि, ईडी संवैधानिक संस्था है, जो
धमतरी : गिल्ली-भांवरा के अविष्कारक नहीं हैं भूपेश बघेल : डाॅ. रमन सिंह


धमतरी, 24 नवंबर (हि.स.)। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को यह नहीं मालूम है कि, ईडी संवैधानिक संस्था है, जो सबके लिए बराबर है। ईडी के लिए मुख्यमंत्री, नेता प्रतिपक्ष, पूर्व मुख्यमंत्री कोई मायने नहीं रखता। भाजपा के 15 साल के कार्यकाल को जनता चावल और विकास के लिए याद करती है। लेकिन चार साल में भूपेश बघेल को ईडी और सीडी के लिए लोग याद करते हैं। गिल्ली, भांवरा छत्तीसगढ़ का पारंपरिक खेल है। गिल्ली, भांवरा के भूपेश बघेल कोई अविष्कारक नहीं है। यह बात 24 नवंबर को धमतरी के वन विभाग के विश्राम गृह में प्रदेश पूर्व मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह ने कही।

वे भानुप्रतापपुर विधानसभा उपचुनाव के सिलसिले में जाते वक्त कुछ देर फारेस्ट रेस्ट हाऊस में रूके थे। उन्होंने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि, भूपेश बघेल झूठ बोल रहे हैं कि रमन सिंह ने उन्हें प्रताड़ित किया है। उनकी मां को पुलिस ने थाना नहीं बुलाया था और न ही कोई समन जारी हुआ था। वे स्वयं राजनीति और नाटकबाजी करने के लिए जबरदस्ती थाने में बैठ गए थे। उन्होंने अपनी मां का अपमान किया हैं। मैं मृतात्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता हूं। उन्होंने सीडी लहराकर चरित्र हत्या की। इस मामले में जमानत पर घूम रहे हैं। रमन ने चुटकी लेते हुए कहा कि, आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए स्वयं को ऐसे प्रस्तुत कर रहे हैं जैसे गिल्ली, भांवरा के वे ही अविष्कारक हैं। उन्होंने भानुप्रतापपुर उपचुनाव पर कहा कि भाजपा बेहतर स्थिति में है और गंभीरता से चुनाव लड़ रहे हैं।

हिन्दुस्थान समाचार/ रोशन सिन्हा


 rajesh pande