विधानसभा अध्यक्ष बोलीं-सत्य परेशान जरूर हो सकता है, पराजित नही हो सकता
देहरादून, 24 नवंबर (हि.स.)। विधानसभा अध्यक्ष ने विधानसभा में बैकडोर भर्ती मामले पर नैनीताल हाई कोर्ट
विधानसभा अध्यक्ष रितु खंडूरी


देहरादून, 24 नवंबर (हि.स.)। विधानसभा अध्यक्ष ने विधानसभा में बैकडोर भर्ती मामले पर नैनीताल हाई कोर्ट से आए फैसले पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि सत्य थोड़ा परेशान जरूर हो सकता है लेकिन पराजित नहीं हो सकता है।

यमुना कॉलोनी विधानसभा अध्यक्ष रितु खंडूडी भूषण ने अपने आवास पर मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि उनके द्वारा प्रदेश में एक पारदर्शी और विधानसभा जैसी प्रतिष्ठित संस्था की स्वच्छ छवि बनाने के लिए कड़ा कदम उठाया गया जिस पर वह लगातार अडिग है।

नैनीताल हाई कोर्ट ने विधानसभा बैग और भर्ती मामले में 228 कर्मचारियों को लेकर सिंगल बेंच के फैसले पर रोक लगा दी है। खंडपीठ के इस फैसले के बाद एक बार फिर से 228 कर्मचारियों की सेवाओं पर तलवार लटक गई है।

गौरतलब है कि विधानसभा भर्ती घोटाले में हुई 228 तदर्थ नियुक्तियों पर विधानसभा अध्यक्ष ने निरस्तीकरण का फैसला दिया था। जिसको कर्मचारियों ने हाई कोर्ट में चुनौती दी थी। इसमें सिंगल बेंच ने इन कर्मचारियों की निरस्तीकरण पर स्टे दे दिया था जिस पर विधानसभा अध्यक्ष ने इसे डबल बेंच की खंडपीठ पर चुनौती दी और आज खंडपीठ ने इस मामले पर सिंगल बेंच के फैसले को पलट दिया ।

हाईकोर्ट के फैसले से कांग्रेस संतुष्ट नहीं, कार्रवाई की मांग-

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कांग्रेस करन माहरा ने विधानसभा अध्यक्ष की ओर से की गई 228 कर्मचारियों पर बर्खास्तगी की कार्यवाही को आधी अधूरी बताया है। साथ ही कहा कि राज्य की पहली विधानसभा से जांच होनी चाहिए। यहीं नहीं, इस कार्यवाही से जिन नेताओं ने अपने परिजनों की नौकरी लगवाई है वो सभी बच गए हैं। हालांकि, किसी की नौकरी चले जाने से कांग्रेस खुश नहीं है लेकिन जिन नेताओं ने नैतिकता को ताक पर रख कर नौकरियां लगवाई हैं, उनपर कार्रवाई होनी चाहिए थी।

हिन्दुस्थान समाचार/राजेश/रामानुज


 rajesh pande