Custom Heading

सपा सरकार में था माफिया का बोलबाला, भाजपा सरकार ने चुन-चुन कर दिया दंडः अमित शाह
केंद्रीय गृहमंत्री एवं भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को मुजफ्फरनगर सदर विधानसभा क्षेत्र में "प्रभावी मतदाता संवाद" कार्यक्रम में सपा, बसपा और कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला।

फोटो_1
-गृहमंत्री शाह बोले- यूपी में 2013 के दंगों की वेदना को वे भूल नहीं पाए हैं
मुजफ्फरनगर/लखनऊ, 29 जनवरी (हि.स.)। केंद्रीय गृहमंत्री एवं भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को मुजफ्फरनगर सदर विधानसभा क्षेत्र में "प्रभावी मतदाता संवाद" कार्यक्रम में सपा, बसपा और कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में माफिया का बोलबाला था और जब प्रदेश में भाजपा की सरकार बनी तो सभी माफिया को चुन-चुन कर दंड देने का काम किया गया। आज सभी माफिया प्रदेश की बाउंड्री के बाहर हैं। शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जब बहन जी आती थीं तो एक जाति की बात करती थीं। कांग्रेस आती थी तो परिवार की बात करती थी और अखिलेश बाबू आते थे तो गुंडा, माफिया और तुष्टीकरण की बात करते थे। भाजपा न जाति की बात करती है, न पाति की, भाजपा सिर्फ विकास और सुरक्षा की बात करती है।
केंद्रीय गृहमंत्री शाह ने राजा परीक्षित, क्रांतिकारियों, आसाराम शर्मा, चौधरी चरण सिंह, किसान नेता महेंद्र सिंह टिकैत को नमन करते हुए कहा, आज जब मैं मुजफ्फरनगर आया हूं तो 2014, 2017 और 2019, तीनों चुनाव हमारी नजर के सामने से गुजर रहे हैं। मैं जब उत्तर प्रदेश का प्रभारी बना, शुरू में ही दंगे हो गए। मैं यहां आकर दंगों की वेदना को जाना। पीड़ित लोगों को ही आरोपी बना दिया गया। आज भी मैं उन दंगों की पीड़ा को भूला नहीं हूं। फिर भी 2014, 2017 और 2019 में जब भी यहां मोदी जी आए, आपने भाजपा की झोली भर दी। हमारे प्रत्याशियों को जीत दिलायी। यही मुजफ्फरनगर है जिसने उन चुनावों में भाजपा को प्रचंड जीत दिलाने की शुरुआत की। जीत की शुरुआत यहीं से होती है और यह जीत की यात्रा काशी तक जाती है। हमारे विरोधियों का सूपड़ा साफ हो जाता है। इस बार भी मुझे भरोसा है कि यहां से ही भाजपा के विजय की नींव रखी जाएगी।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में जाति और धर्म के नाम पर राजनीति करने वालों का बोलबाला था। भू माफिया समेत अनेक प्रकार के माफिया ने यहां कब्जा जमाया था। आज जब मैं आया हूं तो कोई सुरक्षा की बात नहीं कर रहा है। प्रदेश के अंदर 2017 में भाजपा की योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद सारे के सारे गुंडे प्रदेश की बाउंड्री के बाहर चले गए। हमने वादा किया था कि प्रदेश को माफिया मुक्त करेंगे। सुरक्षा देंगे। माताओं बहनों का सम्मान होगा। इनसे कोई छेड़खानी नहीं कर सकेगा। जब हम वादा करते थे तो लोगों को लगता था कि इतनी विकट कानून-व्यवस्था की परिस्थिति को कैसे सुधारा जा सकेगा, लेकिन 2017 के बाद 2022 में जब मैं भाजपा की रिपोर्ट कार्ड लेकर आया हूं तो न केवल पश्चिम उप्र बल्कि पूरे उत्तर प्रदेश से माफिया को चुन-चुन कर खदेड़ने का काम योगी सरकार ने किया है।
भाजपा के पूर्व अध्यक्ष शाह ने कहा कि अखिलेश बाबू को मैं सुनता था। वह कल भी यहां बोल कर गए हैं। वह झूठ भी इतने जोर से बोलते हैं कि लोग सच मान जाएं। अखिलेश ने कहा कि कानून व्यवस्था की स्थिति ठीक नहीं है। अखिलेश बाबू, आज सार्वजनिक कार्यक्रम में आंकड़े देने आया हूं। आंकड़े लेकर प्रेस वार्ता कीजिए। आपके शासन की अपेक्षा भाजपा की सरकार के पांच साल में डकैती में 70 प्रतिशत, लूट में 69% की गिरावट हुई है। हत्या के मामले में 20% की कमी हुई है। अपहरण में 35% कमी हुई है। बलात्कार में भी 30% से ज्यादा की गिरावट दर्ज हुई है। अखिलेश बाबू हमने तो अपना हिसाब दे दिया है। आप अपने शासन के आंकड़े और भाजपा के शासन के आंकड़े हाथ में लेकर प्रेस वार्ता कीजिए। प्रदेश की जनता को मालूम है। अमित शाह ने कहा कि मुझे मालूम है वह प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं करेंगे क्योंकि उनके पास बताने को कुछ भी नहीं है।
इस मौके पर केंद्रीय पशुपालन एवं डेयरी राज्यमंत्री डॉ. संजीव कुमार बालियान, राज्य सरकार के मंत्री भूपेन्द्र चौधरी, विधायक कपिल देव अग्रवाल समेत कई प्रमुख लोग मौजूद रहे।
हिन्दुस्थान समाचार/दिलीप/पवन

 rajesh pande